Cropp Loss

    आर्वी. क्षेत्र में गुरुवार की रात्रि तेज हवा के साथ जोरदार बारिश ने दस्तक दी़ बिजली की कड़कड़ाहट के साथ ओलावृष्टि भी हुई़ इसमें फसलों का भारी नुकसान हुआ है़ संतरा व आम बड़ी मात्रा में गलकर निचे गिर गए़ इसके अलावा क्षेत्र में केला, पपीता आदि फसलों का काफी नुकसान हुआ़ गेहूं व चने की फसल से किसानों को काफी उम्मीद थी, परंतु बेमौसम बारिश ने उनकी चिंता बढ़ा दी है़ अधिकांश किसानों ने चना व गेहूं की फसल काटकर खेतों में रखी है, जो बारिश से गिली हो गई़ कुछ हिस्सों में केले के बगीचे नष्ट हो गए.

    मकानों की छत उड़ी

    तूफानी बारिश से अनेक मकानों की टीन के छत उड़ गए़  कुछ मकानों की कच्ची दीवारें ढह गई़  शहर के वाल्मिक वार्ड में अलीशाह अब्बास शाह, शेख नईम शेख नजीर का मकान, वाढोना पुर्नवसन में वसंतराव देऊलकर का मकान, बोरगांव हातला में प्रभाकर टिकाडे, धनोडी में बंडू दत्ता कोल्हे के मकान का नुकसान हुआ़  अहिरवाड़ा में पेड़ धराशायी होने से वसंता सोनटक्के के पशु की मृत्यु हो गई़  कर्माबाद में गाज गिरने से ज्ञानेश्वर राऊत के तबेले में आग लगी़  इसमें खेती उपयोगी सामग्री जलकर खाक हो गई. 

    पपीता व केले का नुकसान

    धनोडी में संजय देठे के तबेले का भारी नुकसान हुआ़  रुद्रपुर साझा में सुधीर केचे की 0.80 हेक्टेयर की पपीते की फसल जमींदोज हो गई़  देऊरवाडा में प्रमोद नासरे के 0.80 हेक्टेयर में केले का बाग नष्ट हो गए. खडकी में संतरा व आंबिया बार का काफी नुकसान हुआ़  तहसीलदार विद्याधर चव्हाण के मार्गदर्शन में राजस्व विभाग की टीम व कृषि उपविभागीय अधिकारी सांगले के मार्गदर्शन में संबंधित टीमें नुकसान का जायजा ले रही है.