tadas

  • सांसद तडस के प्रश्न पर राज्यमंत्री चौबे का जवाब

वर्धा. मेडिकल असोसिएशन ऑफ इलेक्ट्रो होमिओपॅथी संगठन सहित अनेकों ने इस चिकित्सा पद्धति को मान्यता मिले व शास्त्र जनमान्य कराने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को दिया है. परंतु अभी तक मान्यता न मिलने से समस्या निर्माण हुई है.

इस संबंध में सांसद रामदास तडस ने लोकसभा में अतारांकित प्रश्न संख्या 1093 अंतर्गत इलेक्ट्रो होमिओपॅथी चिकित्सा पद्धति संबधीत प्रश्न उपस्थित कर ध्यान केन्द्रीत किया. जिसका जवाब देते हुए राज्यमंत्री अश्विनीकुमार चौबे ने कहा कि, इस चिकित्सा पद्धति को मान्यता देना आईडीसी पर निर्भर है.

अश्विनीकुमार चौबे ने आगे कहा कि, इस चिकित्सा के नए पद्धति को मान्यता देने केन्द्र व राज्य सरकार तथा संबंधित प्रतिनिधि के विशेषज्ञों सदस्यों के नेतृत्व में भारत सरकार सह महानिदेशक, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की अध्यक्षता में आंतर विभागीय समिति आईडीसी स्थापित की गई है. इलेक्ट्रो होमिओपैथी को मान्यता देने इलेक्ट्रो होमिओपैथी रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑरगनाईजेशन के साथ अनेक संगठन से प्रस्ताव प्राप्त हुआ है.

आंतर विभागीय समिति में बैठक होकर मान्यता देने संबंधित विचार किया है. परंतु इलेक्ट्रो होमिओपैथी मान्यता देने संबंधित प्रस्तुत किए प्रस्ताव पर समिति संतुष्ट नही होने से अधिक जांच व सूचना उपलब्ध करने को कहा गया है. इस प्रणाली के प्रस्ताव को मान्यता देने सरकार का निर्णय प्रस्ताव की जांच प्रक्रिया समाप्त होने के बाद व समिति द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट पर निर्भर होने की जानकारी दी.