शराबबंदी हटाओ आंदोलन समिति गठीत, सदस्य के रूप में हुई नियुक्ती

    वर्धा.  दारुबंदी हटाओ, वर्धा बचाओं आंदोलन समिति अब महत्वपूर्ण मोड पर आ गई है़ आंदोलन जिले के हर कोने में पहुंचाने के लिए जिला स्तरीय आंदोलन समिति की स्थापना की गई़  यह आंदोलन पार्टी, जाति, धर्म, राजनिती निरपेक्ष रहनी चाहिए़  साथ ही प्रचार के लिए सभी तन, मन, धन तथा समय दे सके, इस महत्वपूर्ण निकषों पर समिति के सदस्यों की नियुक्ती की गई है.  

    शराबबंदी हटाओ, वर्धा बचाओ आंदोलन समिति में सदस्य के रूप में सचिन म्हैसकर, राहुल करंडे, अमित डांगे, श्याम परसोडकर, मनिष पुसाटे, सिद्धांत कांबले, चंद्रशेखर घाटे, अरुण पाटील, सितम मंदरेले, राहुल पाटील, किरण पट्टेवार आदि का समावेश है़‍  शराबबंदी हटाओं आंदोलन का कोई भी वैयक्तीक रूप से लाभ नहीं ले सके, इसके लिए समिति में अध्यक्ष, सचिव तथा अन्य पद न रखते हुए सदस्य यहीं एकमात्र पद रखा गया है़  विशेष यह की सदस्य विभिन्न राजनितीक पार्टी से जुडे होने के बावजूद भी उनका उद्देश केवल शराबबंदी हटाना यह है़  इसके लिए वह सभी मतभेद दूर रखकर एक हुए है़.

    जिलास्तरीय समिति की ओर से जल्द ही तहसीलस्तरीय दौरा किया जानेवाला है़  जिसमें तहसीलस्तरीय दौरे किए जाएंगे़  स्वयं की तहसील में आंदोलन सफल बनाने के लिए श्रम, शक्ती, बुद्धी, समय खर्च करने के लिए इच्छुक स्वयंसेवकों ने जिलास्तरीय समिति के किसी भी सदस्य से संपर्क कर अपने तहसील की बैठक आयोजित करें, ऐसा आहवान शराबबंदी हटाओ, वर्धा बचाओं आंदोलन समिति द्वारा किया गया है.