cotton

  • लगातार बारिश से किसानों का भारी नुकसान, बढी चिंता

रसुलाबाद.प्रतिदिन हो रही बारिश का परिणाम सोयाबीन के साथ-साथ कपास व तुअर फसल पर भी हुआ है. परिसर में सोयाबीन की फसल तो पूरी तरह से बर्बाद हुई, परंतु अब कपास के फल ( बोंड) भी अंकुरित होने से किसानों की चिंता बढ गई है. 

परिसर में हररोज बारिश दस्तक दे रही है. बारिश के कारण खरीफ फसले पूरी तरह से प्रभावित हुई है. अधिक बारिश से सोयाबीन पूरी तरह से खराब हुआ है. अनेक जगहों पर सोयाबीन की फल्लियां अंकुरित हुई है. तो वही कुछ जगहों पर कपास के बोंड भी अंकुरित हो गए है. किसानों ने पूजा कर कपास बिनने का काम शुरु किया था. परंतु बारिश के कारण कपास नही बिन सके. कपास भिगकर नीचे गिर गया. दूसरी ओर जो फल कपास को लगे थे, वह भी काले पडकर खराब हो गए तथा कुछ फल से अंकुर निकलने लगे. जिससे मुंह तक आया निवाला छिन तो नही जायेगा? ऐसा डर किसानों में है. कोरोना महामारी के कारण किसान पहले ही आर्थिक संकट में है. अब इस नए संकट से किसानों की चिंता बढ गई है. कपास को सफेद सोना कहा जाता है. नगद फसल के तौर पर किसान उत्पादन लेते है. इसकी विक्री से परिवार का उदरनिर्वाह होता है. परंतु इस वर्ष किसानों का संकट खत्म ही नही हो रहा है. जिससे किसान चिंतित नजर आ रहे है.