117 स्कूलों को मिली 1.54 करोड शुल्क प्रतिपूर्ति

  • 32 फीसदी राशि का वितरण, 18 स्कूलों हुए रद्द

वर्धा. आरटीई 25 फीसदी अंतर्गत शैक्षणिक शुल्क प्रतिपूर्ति अनेक दिनों से प्रलंबित थी. दौरान अब वर्ष 2018-19 के लिए कुल 135 स्कूलों में से 117 स्कूलों को आज तक मांग के 32 फीसदी यानि 1 करोड 54 लाख रुपए राशि वितरित करने की जानकारी शिक्षा विभाग ने दी है.

वर्ष 2018-19 के लिए पहले चरण में 33 स्कूल, दूसरे चरण में 39 स्कूल, तीसरे चरण में 8 स्कूल, चौथे चरण में 17 स्कूल, पांचवे चरण में 15 स्कूल तथा छटवे चरण में 5 कुल 117 स्कूलों को 29 फीसदी शुल्क प्रतिपूर्ति पहले ही अदा की गई थी. दौरान जिलास्तर पर उपलब्ध प्रावधान के तहत इन सभी 117 पात्र स्कूलों को शेष 3 फीसदी कुल 1 करोड 54 लाख की राशि वितरित की गई. 135 स्कूलों में दो स्कूलों ने प्रस्ताव प्रस्तुत न करने से उन स्कूलों का शैक्षणिक शुल्क प्रतिपूर्ति का दावा खत्म हो गया. जिसमें पंचायत समिति देवली अंतर्गत कलाविष्कार कॉन्व्हेंट पुलगांव व पंचायत समिति वर्धा अंतर्गत इरा इंटरनैशनल स्कूल सालोड का समावेश है.

पंचायत समिति वर्धा अंतर्गत सरस्वती विद्यामंदिर, पवनार व सरस्वति विद्या मंदिर आंजी बडी इन दो स्कूलों ने शासकीय जमीन व इमारत का इस्तेमाल करने से उनको शैक्षणिक शुल्क प्रतिपूर्ति प्रक्रिया से अलग किया गया. 3 स्कूल बंद है तथा एक स्कूल अनाधिकृत है. शेष 10 स्कूलों में 25 फीसदी अंतर्गत एक भी बालक प्रवेशित नही होने से उन स्कूलों का समावेश शैक्षणिक शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए नही किया गया. वर्ष 2018 -19 के लिए 5 करोड रुपए की मांग की गई थी. उनमें से 32 फीसदी राशि प्राप्त होने से उसका वितरण किया गया. शेष राशि की मांग शिक्षण संचालक, महाराष्ट्र राज्य पुणे की ओर की गई है. निधि प्राप्त होते ही शेष राशि स्कूलों को वितरित की जाएगी.

21 स्कूलों को सशर्त राशि वितरित
शिक्षण संचालक प्राथमिक राज्य पुणे के 18 मई 2020 के पत्र के तहत शैक्षणिक शुल्क प्रतिपूर्ति वितरण करने के दृष्टि से आरटीई मान्यता प्रमाणपत्र, स्कूल खाता मान्यता, स्टुडन्ट मैपिंग प्रमाणपत्र, 100 फीसदी विद्यार्थियों का आधार कार्ड पंजीयन अनिवार्य है. परंतु 21 स्कूलों द्वारा दी गई रिपोर्ट में कुछ खामिया पायी गई. यह खामिया दी गई शर्तो के तहत पूर्ण करने की सूचना देकर राशि वितरित की गई है.