UDHHAV
File Pic

    • वन्यजीव मार्ग का काम पूर्ण नही, 
    • जिले से गुजर हा 58.400 किमी का मार्ग, 
    • पहाडी का मार्ग नही हुआ पूर्ण, 
    • नागपुर- वर्धा की सिमा पर का पूर्ण नही 

    वर्धा. समृद्धि महामार्ग शुरू करने के संदर्भ में मुख्यमंत्री की ओर से दी गई दूसरी डेडलाइन भी मुश्किल में आ गई है. समृद्धि महामार्ग का काम तय सीमा के भीतर पूर्ण किया जाना असंभव बताया जा रहा है. परिणामवश सीएम की दूसरी घोषणा भी हवा हवाई साबित होने वाली है.

    इसके चलते वाहन चालकों और कुछ माह तक समृध्दि से यातायात शुरू होने का इंतजार करना पड़ेगा. विदर्भ के विकास में मिल का पत्थर साबित होने वाले समृद्धि महामार्ग के काम में अनेक रूकावटें आ रही हैं. सत्ता परिवर्तन के बाद मार्ग का काम थम सा गया था, परंतु बाद में मार्ग के काम ने गति पकड़ी. वहीं कुछ माह बाद कोरोना संकट ने दस्तक देने के उपरांत उसका व्यापक असर मार्ग के निर्माण कार्य पर पड़ रहा है. परिणामवश मार्ग का काम तय समय सीमा में पूरा नहीं हो पा रहा है. 

    नागपुर से शिर्डी तक मार्ग शुरू होने में विलंब 

    नागपुर–मुंबई 701 किमी का समृद्धि महामार्ग वर्धा जिले से गुजर रहा है. जिले से कुल 58.400 किमी के मार्ग का निर्माण किया जा रहा है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नागपुर से शिर्डी तक 502 किमी का मार्ग महाराष्ट्र दिन के अवसर पर शुरू करने की घोषणा की थी. किंतु कोरोना के चलते तय समय पर मार्ग का निर्माण पूर्ण नहीं होने से यह वादा अधूरा रहा था.

    मुख्यमंत्री ने दूसरी बार 15 अगस्त की तारीख दी 

    सीएम ठाकरे ने मार्ग की समीक्षा करके नागपुर से शिर्डी तक का मार्ग 15 अगस्त से शुरू करने की घोषणा की है. सीएम के घोषणा के चलते मार्ग का कार्य युद्धस्तर शुरू है. परंतु जिले के 58.400 किमी के मार्ग निर्माण कार्य में अनेक दिक्कतें आ रही है. शेकापुर व बोरी के मार्ग पर स्थित पहाड़ियां मार्ग के निर्माण में बाधा बनी हुई है. पहाड़ी फोड़कर मार्ग का निर्माण 15 जुलाई तक पूरा किए जाने का अनुमान था, लेकिन यह काम पूर्ण होने में ओर दो माह का समय लगने की जानकारी सूत्रों ने दी.

    प्लाईओवर का काम भी पूर्ण नहीं हो पा रहा है

    नागपुर-वर्धा जिले की सीमा पर स्थित हलदगांव टोल प्लाजा के समीप प्लाईओवर का निर्माण कार्य किया जा रहा है. बीते तीन माह से प्लाईओवर का काम शुरू है. यह काम पूर्ण होने को और करीब डेढ़ माह का समय लग सकता है.

    गाढवमाता से खड़की तक सड़क भी पूर्ण नहीं

    नागपुर जिले की सीमा से लेकर आमगांव खड़की तक सीमेंट सड़क का निर्माण अब तक पूर्ण नहीं हुआ है. इस मार्ग पर स्थित तीन पुलों का कार्य अभी भी चल रहा है. यह मार्ग पूर्ण होने को करीब दो माह का समय लगने की संभावना है. बारिश के कारण निर्माण कार्य में बाधा आने की संभावना अधिकारियों ने जताई.

    सिंदी प्लाईओवर का काम भी अधूरा पड़ा

    समृद्धि महामार्ग सेलडोह-सिंदी मार्ग के ऊपर से गुजर रहा है, जिससे मार्ग पर प्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है. अब तक प्लाईओवर की एक लेन तैयार हो गई है. दूसरी लेने तैयार होने को कुछ समय लगने वाला है. हिवरा-वडगांव मार्ग के पुल का निर्माण कार्य भी अधूरा ही है.

    टावर लाइन का काम भी अब तक नहीं हो पाया 

    महामार्ग को कोराडी-देवली 423 केवी की हाइटेंशन लाइन क्रास करने के कारण लाइन हटाना आवश्यक है, परंतु लाइन हटाने का काम शुरू नहीं हुआ है. इससे लाइन यातायात में बाधा बन सकती है.

    अनेक विविध प्रकार के काम भी अधूरे पड़े

    58 किमी के मार्ग में अनेक काम आज भी अधूरे है. मार्ग के पिचींग का काम पूर्ण नहीं हुआ है. किसानों के विरोध के कारण सुरक्षा दीवार का काम खटाई में आ गया है. सीसीटीवी लगाने, इलेक्ट्रिक पोल हटाने, पौधारोपण, वन्य जीव मार्ग का काम पूर्ण नहीं हुआ है. जल्द कोरोना की तीसरी लहर आने की चेतावनी स्वास्थ्य विभाग ने दी है. इन सब का व्यापक असर समृद्धि महामार्ग के निर्माण कार्य के साथ उसे शुरू करने पर हो सकता है. वर्तमान स्थिति को देखते हुए सीएम ठाकरे द्वारा दूसरी बार की गई घोषणा के अनुसार मार्ग शुरू होने की कोई उम्मीद नहीं के बराबर है.