कौशल्य विकास : स्वास्थ्य क्षेत्र में मिलेंगे रोजगार,240 युवाओं को मिलेगा प्रशिक्षण, CM के हाथों उद्घाटन

    वर्धा. राज्य में कोविड-19 के संक्रमित मरिजो पर इलाज के लिए जरूरी पैरामेडिकल क्षेत्र के प्रशिक्षित मानव संसाधण की काफी कमी खल रही है़ इस क्षेत्र में कुशल मनुष्यबल तैयार करने क लिए मुख्यमंत्री महास्वास्थ्य कौशल्य विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरे राज्य में चलाया जा रहा है़ इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का राज्यस्तरीय उद्घाटन आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों दूरदृश्य प्रणाली द्वारा किया गया़.

    जिले के 240 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा. जिले में विनोबा भावे अस्पताल सावंगी मेघे, जिला सामान्य अस्पताल वर्धा तथा उपजिला अस्पताल हिंगनघाट में इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया़  इस प्रसंग पर सावंगी में दीप प्रज्वलन तथा प्रशिक्षणार्थियों को किट वितरित कर वर्धा में उद्घाटन हुआ़  इस प्रसं पर अपर जिलाधिकारी प्रवीण महिरे, अस्पताल के प्रबंधक अभ्युदय मेघे, डा़ महाकालकर, भाग्यश्री वाघमारे आदि उपस्थित थे़ जिला सामान्य अस्पताल में शल्य चिकित्सक डा़ सचिन तडस उपस्थित थे.

    जिला अस्पताल के होम हेल्थ एड, उपजिला अस्पताल हिंगणघाट व आचार्य विनोबा भावे ग्रामिण अस्पताल सावंगी मेघे में इमरजंसी मेडिकल टेक्निशियन इस प्रशिक्षण के लिए कुल 60 उम्मीदवार उपस्थित थे़. जिले में 450 लोगों ने विविध कौशल्य प्रशिक्षण के लिए पंजीयन किया है़  इसमें 12 पाठ्यक्रम निश्चित किये गए है़ं  होम हेल्थ एड, इमर्जन्सी मेडिकल टेक्निशियन, फ्लेबोटोमिस्ट, हास्पिटल फ्रंट डेस्क कॉर्डिनेटर, जनरल ड्यूटी असिस्टंट, रुग्णवाहिका चालक, मेडिकल ड्रेसर, डायबेटीस असिस्टेंट आदि प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का समावेश है़.

    सावंगी मेघे वैद्यकीय महाविद्यालय सहित कुल 11 अस्पतालों का प्रशिक्षण संस्था के रूप चयन किया गया है़  इसमें जिला अस्पताल, उपजिला अस्पताल हिंगनघाट, आर्वी, ग्रामीण अस्पताल सेलू, भिडी, देवली, पुलगांव, आष्टी, समुद्रपुर, वडनेर तथा कारंजा अस्पताल का समावेश है़  इस कौशल्य विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम से जिले में स्वास्थ्य क्षेत्र में आवश्यक कुशल मनुष्यबल निर्माण होगा़  साथ ही कोरोना जैसी महामारी के काल में इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर युवाओं प्राप्त होगा़.