26 की हड़ताल में शामिल होंगे शिक्षक

  • म़ रा़ प्राथ़ शिक्षक समिति का निर्णय

वर्धा. अनेक प्रलंबित मांगों को लेकर महाराष्ट्र राज्य प्राथमिक शिक्षक समिती ने 26 नवम्बर को होने जा रही देशव्यापी लाक्षणीक हडताल में शामील होने का निर्णय लिया है़ इस आशय की जानकारी शिक्षक समिति के राज्य सरचिटणीस विजय कोंबे व राज्याध्यक्ष उदय शिंदे ने दी़ 

शिक्षक-कर्मियों की सेवाविषयक, आर्थिक समस्या के संबंध में केंद्र तथा राज्य सरकार की नीति नकारात्मक दिखाई दे रही़ स्थानीय स्वराज्य संस्था की प्राथमिक स्कूल, विद्यार्थियों तथा शिक्षकों की समस्या हल करने में राज्य सरकार के संबंधीत विभाग की अनदेखी हो रही़  परिभाषित अंशदायी पेन्शन/राष्ट्रीय पेन्शन योजना बंद कर 1982 की पुरानी पेन्शन योजना लागू करें, राष्ट्रीय शैक्षणिक निती-2020 में घातक व्यवस्था पीछे ली जाए़ किसान विरोधी कानून पिछे ले़ बडे व्यापारियों के हित में लिए गए कानून को पिछे ले़ कामगार कानून में जो शर्ते रखी गई, उसे पिछे लिया जाए़ इन सभी मांगों को लेकर होनेवाली देशव्यापी हडताल को महाराष्ट्र राज्य प्राथमिक शिक्षक समिति ने अपना समर्थन दर्शाया है.

शिक्षकों के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण मांगों पर ध्यान खींचा जाएगा़ शिक्षण सेवक (परिविक्षाधीन शिक्षक) योजना बंद कर नियमित शिक्षक के रुप में नियुक्ती दे.वर्तमान स्थिति में प्राथमिक शिक्षण सेवको को प्रतिमाह 6 हजार रुपए मानधन दिया जाता है, इसमें वृध्दी कर 25 हजार मानधन किया जाए़ कोरोना/कोविड-१९ के लिए नियुक्त किये गए शिक्षकों को बिमा कवच मिले़ सहित करीब 26 महत्वपूर्ण मांगों का निवेदन शिक्षक समिति ने मुख्यमंत्री, शिक्षण आयुक्त सहित संबंधीतों को भेजा है़