water supply

    वर्धा. शहर व आसपड़ोस के गांवों को पिपरी (मेघे) और अन्य 10 गांव प्रादेशिक जलापूर्ति योजना के अंतर्गत होने वाली जलापूर्ति सेवा प्रभावित हो गई है़ मुख्य उर्ध्वनलिका के शिफ्टिंग का काम आगामी दो दिन तक चलेगा. तकनीकी समस्या सुधार कार्य में रोडा साबित हो रही है़ 1 व 2 अप्रैल तक 11 ग्रापं क्षेत्र में जलापूर्ति खंडित रखे जाने की जानकारी मजीप्रा ने दी है़.

    शहर से सटी पिपरी (मेघे), सावंगी (मेघे), उमरी (मेघे), नालवाड़ी, वरुड़, साटोडा, सिंदी (मेघे), बोरगांव (मेघे), वायगांव आदि ग्रापं क्षेत्र में प्रादेशिक जलापूर्ति योजना के तहत जलापूर्ति की जाती है़ परंतु उक्त योजना की मुख्य जलापूर्ति उर्ध्वनलिका समृध्दि महामार्ग के निचे आने से इसके शिफ्टिंग का काम हाथ में लिया गया है़

    जनता से पेयजल संग्रहण का आह्वान

    मजीप्रा ने इसके पूर्व पत्र जारी करते हुए 30 व 31 मार्च को उक्त काम करने का निर्णय लिया गया़ परंतु विविध तकनीकी समस्या इस काम के लिए रोडा साबित हुई़ परिणामवश उर्ध्वनलिका शिफ्टिंग का काम नहीं हो पाया़ इसलिए मजीप्रा प्रशासन ने इस काम को आगामी दो दिनों में निपटाने का निर्णय लिया है़ इसके चलते अब 1 व 2 अप्रैल को संबंधित 11 ग्रापं क्षेत्र में जलापूर्ति सेवा खंडित रहेगी़ जनता से पर्याप्त मात्रा में पेयजल संग्रहण करने का आह्वान महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण ने किया है़

    2 दिन रहेगा ब्रेकडाऊन

    शिफ्टिंग के काम में दो दिन लगने से 1 व 2 अप्रैल का ब्रेकडाउन लिया गया है़ दो दिन क्षेत्र की जलापूर्ति बंद रहेगी़ संबंधित ग्रापं को पत्र जारी किये गए है़ बीच के दिनों में तूफानी बारिश के कारण बिजली आपूर्ति की समस्या पैदा हो गई थी़ इसलिए काम नहीं हो पाया था़ समय रहते काम पूर्ण कर जलापूर्ति सेवा सुचारू रूप से शरू रखेंगे़-आरजी गुरुमुखी, उपविभागीय अभियंता-मजीप्रा.