court

    वर्धा. सुसाइड बम बनकर बैंक उड़ाने की धमकी देने के प्रकरण में गिरफ्तार आरोपी को न्यायालय ने दो दिन की पुलिस कस्टडी सुनाई़ युवक पर बैंक का 25 लाख रुपये कर्ज है. इस बात से मानसिक संतुलन खोकर उसने इस घटना को अंजाम देने की जानकारी है़ शुक्रवार को सामने प्रकरण में सेवाग्राम पुलिस ने योगेश प्रकाश कुबडे (45) को हिरासत में लिया था़ योगेश सुसाइड बम बनकर सेंट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा एमआईडीसी में पहुंचा था.

    जहां बैंक प्रबंधक चेतना खोब्रागडे को चिठ्ठी सौंपकर बैंक उड़ाने की धमकी दी़ रविवार को सेवाग्राम पुलिस ने आरोपी योगेश कुबडे को न्यायालय में पेश किया, जहां उसे दो दिन की पुलिस कस्टडी सुनाई गई़ प्रकरण में आगे की जांच पुलिस उपनिरिक्षक जितेंद्र ठाकुर कर रहे है़ योगेश ने कैफे हाउस लगाया था़ इसके लिए उसने बैंक से कर्ज उठाया था.

    कोरोना संकट के कारण व्यवसाय बंद होने के कारण 25 लाख रुपए का कर्ज कैसे चुकाए, यह चिंता उसे खायी जा रही थी़ इसका असर उसकी मानसिकता पर हुआ़ इससे योगेश ने बिना कुछ सोचे समझे इस घटना को अंजाम दे दिया.

    उल्लेखनिय है कि, योगेश से जब्त की गई सभी वस्तुएं नकली होने की बात सामने आयी़ बंदूक भी नकली बताई गई़ लाकडान से अनेक युवक बेरोजगार हो गए है़ व्यवसायियों पर आर्थिक संकट मंडरा रहा है़ इससे परेशान होकर जिले में कुछ लोगों ने आत्महत्या जैसे सख्त कदम भी उठाए है़ योगेश कुबडे ने भी परेशान हो इस प्रकार का कदम उठाने की चर्चा है.