मृतावस्था में मिला बाघ, सप्ताह के भितर दूसरी घटना

    • वनविभाग में खलबली

    वर्धा. आष्टी वनपरिक्षेत्र के तहत में आनेवाले अप्पर वर्धा के बैक वॉटर परिसर बाघ का शव बरामद हुआ़ सप्ताहभरे में बाघ के मृत्यु की यह दूसरी घटना उजागर होने से वनविभाग में खलबली मची है़ घटनास्थल को विभाग के वरिष्ठ अधिकारी, पशुचिकित्सक ने भेंट देकर मुहायना किया़ बाघ का शव पुर्णत: सडगल गया था़

    ज्ञात हो कि, रविवार को सेलू तहसील के केलझर में कैनल के पानी में बाघीन का शव मिला था़ इस घटना की चर्चा थमी ही नहीं थी कि, फिर एक बार जिले में मृतावस्था में बाघ पाया गया़ मृत बाघ की उम्र 12 से 13 वर्ष बताई गई़ उक्त बाघ वृद्ध होने के कारण उसकी मौत होने का अनुमान वनविभाग ने लगाया है. पानी में गिरने के बाद बहाव से वह इस परिसर में पहुंचा़ जहां किसी का जाना भी संभव नहीं है़

    वनकर्मियों ने घटनास्थल तक पहुंचने के लिए समय पर पगडंडी बनाई़ जहां से चिकित्सक व वनविभाग का दल घटनास्थल पहुंचा़ बाघ के शरीर का आधे से जादा हिस्सा वन्यपशुओं ने नोछकर खाने की जानकारी है़ घटनास्थल पर बाघ का एक पंजा व दांत पडे हुए दिखाई दिये. बांध पर मच्छीमार पेट्रोलिंग के लिये जाते है.

    15 दिन पूर्व पेट्रोलिंग के लिये गये थे. उस समय उन्हें ऐसी कुछ बात ध्यान में नहीं आयी़ परंतु बुधवार को जब मच्छीमार पेट्रोलिंग के लिये गये तब बांध के बैक वॉटर परिसर में बाघ मृत अवस्था में दिखाई दिया.