खंडित बिजली आपूर्ति से परेशानी, झड़शी की समस्या की ओर अनदेखी

    सेलू (सं). तहसील के झड़शी परिसर में बार-बार खंडित होने वाली बिजली आपूर्ति से ग्रामीण त्रस्त हो गए हैं. बार-बार निर्माण होने वाली समस्या की ओर बिजली महावितरण कंपनी की अनदेखी कायम है. इस समस्या पर कोई भी उपाय योजना नहीं किए जाने से नागरिकों में रोष का माहौल बना हुआ है. सेलू, घोराड, झड़शी के साथ खापरी, रेहकी में भी बिजली की आंखमिचौली शुरू है.

    ग्राहकों की शिकायतें बढ़ गई है. बिजली महावितरण कंपनी की मनमानी से नागरिकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. विशेष बात यह है कि विद्यार्थियों का शैक्षणिक नुकसान हो रहा है. महावितरण कार्यालय में एक भी अधिकारी मुख्यालय में मौजूद नहीं रहता. लाइनमैन का पद भी रिक्त पड़ा है. अनेक जगह काम सही तरह से नहीं होते. 

    15 दिनों तक आपूर्ति नहीं होती पूर्ववत 

    15 दिनों तक बिजली आपूर्ति सुचारू नहीं की जाती. महावितरण के मनमानी कार्य से किसानों को सिंचाई करना तक मुश्किल हो गया है. साथ ही मार्ग के किनारे होने वाले पेड़ों की टहनियों से भी बिजली आपूर्ति खंडित हो रही है. परिणाम स्वरुप बिजली महावितरण कंपनी से इस ओर गंभीरता पूर्वक ध्यान देकर बिजली आपूर्ति सुचारु करने की मांग उपभोक्ताओं ने की है.

    विद्यार्थियों का हो रहा शैक्षणिक नुकसान

    कोरोना की पार्श्वभूमि पर सभी ओर आनलाइन शिक्षा शुरू है. वहीं बिजली आपूर्ति बार-बार खंडित होने से विद्यार्थियों को आनलाइन शिक्षा में बाधा निर्माण हो रही है. परीक्षा भी आनलाइन ही ली जाती है, जिससे विद्यार्थियों का शैक्षणिक नुकसान हो रहा है.