Golibar Chowk, Rush, parking on Road
File Photo

  • शहर में आये दिन यातायात जाम की स्थिति

वर्धा. शहर में दुपहिया तथा चार पहिया वाहनों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ रही है. जब यह वाहन सड़क पर चलते है तब अधिकांश सड़कों पर ट्राफिक जाम जैसी परिस्थिति उत्पन्न होती है. क्योंकि पहले ही सभी सड़कों पर अतिक्रमण है. जब वाहन चलाते हैं तो वाहनचालकों को अपना वाहन चलाते समय काफी मशक्कत का सामना करना पड़ता है. जब कोई वाहन चालक किसी दूकान में जाता है तो उसे अपना वाहन कहा पर खड़ा रखें. ऐसा प्रश्न निर्माण होता है. क्योंकि जगह कम, वाहन बड़ा ऐसी समस्या निर्माण होती है.

सातवां वेतन आयोग तथा बैंक की ओर से सरल तरीके से ऋण मिलने से वाहन खरीदी करना आसान हो गया है. आजकल के नागरिकों का भौतिक सुविधाओं की ओर ज्यादा झुकाव है. जिसकी वजह से वे रहने के लिए आलिशान घर और घूमने के लिए चार पहिया वाहन जरूरी होता है.

घर के सामने कार पार्किंग से समस्या

अधिकांश लोग तो अपने लिए आलिशान घर बनाते हैं. लेकिन महंगी कार रखने के लिए जगह ही नहीं होती है. ऐसे समय रामभरोसे अपनी कार घर के सामने सड़क पर ही खड़ी की जाती है. ऐसे वाहन रखने से अनेंक की अड़चनें आती हैं. ग्रामीण परिसर के नागरिक रोजगार तथा शिक्षा के लिए शहर में आते हैं.  इनमें से कई स्थाई हो जाते हैं. शहर की जनसंख्या तेजी से बढ़ना यह भी मुख्य कारण है. घर का निर्माणकार्य करते समय नियमों की ओर अनदेखी की जा रही है. वाहन पार्किंग के लिए जगह नहीं छोड़ने से सड़क पर वाहन पार्क किए जाते हैं. इसलिए कई जगह सड़क के दोनों ओर कारों की कतारें लगी दिखती है. 

शेड तैयार कर किया अतिक्रमण

कुछ लोगों ने कार रखने के लिए शेड तैयार कर सड़क पर ही अतिक्रमण किया है. घर के वाहन रखने के लिए जगह नहीं होने पर भी वाहन खरीदी कर वह सड़क पर खड़े किए जाते हैं. जिससे यातायात में बाधा निर्माण होती है.