wardha

वर्धा. जिले में कोविड-19 महामारी का प्रकोप बढता ही जा रहा है. जिससे नागरिकों को खुद का ध्यान रखना अनिवार्य है. बढते जा रहे मरीज सभी के लिए चिंता का विषय है. प्रशासन ने विचार कर सुविधा व कोविड सेंटर की संख्या बढाना जरुरी है. जिसके लिए आगामी समय में जनसहयोग से उपाययोजना करें, ऐसी सूचना सांसद रामदास तडस ने दी.

उपविभागीय अधिकारी कार्यालय में आयोजित समीक्षा बैठक में वे बोल रहे थे. इस अवसर पर उपविभागीय अधिकारी सुरेश बगले, तहसीलदार प्रिती डुडलकर, देवली के तहसीलदार राजेश सरवदे, मुख्याधिकारी एस बी महाजन, सहायक जिला शल्य चिकित्सक संजय गाठे, मुख्याधिकारी विपीन पालीवाल, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डा़ माधुरी दिघेकर, देवली के डा़ प्रवीण धमाने, सेलू के डा़ स्वप्नील बेले उपस्थित थे.

बैठक में वर्धा उपविभागीय अंतर्गत आनेवाले कोविड सेंटर की देखभाल, स्वच्छता, सुरक्षा, दवाईयों की आपूर्ति, मरीजों पर उपचार, होम क्वारंटाईन आदी संबंधित चर्चा की गई. केन्द्र शासन की सूचना के तहत केन्द्रीय गृह मंत्रालय की अनुमति के बगैर लॉकडाऊन यह विषय कंटेनमेंट जोन के बाहर नही कर सकते. जिस कारण सर्व सहमति व सहयोग से प्रशासन आगे निर्णय लें, ऐसी सूचना प्रशासन को दी. उक्त समय उपस्वास्थ्य अधिकारी डा़ वी वी वंजारी, खंडविकास अधिकारी शंकर हाते, खंडविकास अधिकारी अनिल आदेवार, प्रशासकीय अधिकारी रघुनाथ मोहिते, कर प्रशासक अधिकारी देवेन्द्र निकोस, अभियंता रुपेश नवलाखे, नायब तहसीलदार आदेश डफ उपस्थित थे.