Only 57 percent water left in dams

    वर्धा. जिले में गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है़ धीरे-धीरे जिले में तपन बढ़ती जा रही है़ दूसरी ओर जलाशयों का जलस्तर भी तेजी से घटता जा रहा है़ गत डेढ़ माह में जिले के बड़े, मध्यम व लघु जलाशयों का जलस्तर बड़ी मात्रा में घट रहा है़.

    उल्लेखनिय है कि जनवरी माह में धाम प्रकल्प में 41.66 दलाघमी जलसंग्रहण था, जिसका प्रतिशत 70 फीसदी था़ जो गत दो माह में तेजी से घटकर 39.88 फीसदी रह गया है़ वर्तमान में धाम प्रकल्प में 23.7261 दलाघमी ही जलसंग्रहण शेष होने की जानकारी जलसंपदा विभाग ने दी़.

    बता दें कि गत वर्ष गर्मी में जिले के नागरिकों को भीषण जलसंकट का सामना करना पड़ा था़ लगभग जिले के सभी जलाशय सूख गए थे़ शहरी व ग्रामीण अंचल में पेयजल के लिए नागरिकों को दर दर भटकना पड़ा था़ इस बार अच्छी बारिश दर्ज होने के कारण सभी जलाशय लबालब होकर बहने लगे थे़ परिणामवश जलसंकट से नागरिकों को राहत मिली़

    समय रहते उपाय योजना जरूरी

    विगत डेढ़ माह में जिले के बड़े, मध्यम व लघु जलाशयों का जलस्तर तेजी से घटने की बात सामने आयी है़ मार्च में ही गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है़ अप्रैल, मई व जून माह में तपन बढ़ने की आशंका है़ ऐसे में जुलाई तक जलापूर्ति का उचित नियोजन करना जरूरी हो गया है़ वर्तमान स्थिति में पर्याप्त मात्रा में जलसंग्रहण होने की बात प्रशासन कह रहा है़ परंतु इसी तेजी से जलस्तर घटता गया तो जून के अंत तक फिर एक बार जलसंकट की स्थिति पैदा हो सकती है़ इसलिए स्थिति को भांपते हुए समय रहते उचित उपाय योजना करना जरूरी हो गया है़

    30 फीसदी तक घटा जलस्तर

    जलसंपदा विभाग के अनुसार जिले के बड़े व मध्यम अधिकांश जलाशयों का जलस्तर 40 फीसदी से भी नीचे आ गया है़ इसमें वर्धा शहर व आसपड़ोस के गांवों को जलापूर्ति करने वाले धाम प्रकल्प का भी समावेश है़ उक्त प्रकल्प में फिलहाल 39.88 फीसदी जलसंग्रहण है़ गत दो माह में प्रकल्प का जलस्तर 30 फीसदी तक घट गया है़ इसी रफ्तार से जलस्तर घटा तो आगामी दिनों में फिर एक बार वर्धा सहित आसपड़ोस के गांवों में जलसंकट मंडरा सकता है़ ज्ञात रहे कि गत वर्ष उक्त जलाशय पूर्णत: सूख गया था, जिससे भयावह स्थिति पैदा हो गई थी़

    4 प्रकल्पों की स्थिति स्पष्ट नहीं

    जलसंपदा विभाग के पास वर्धा कार, सुकली, मदन प्रकल्प व मदन उन्नई जलाशय में कितना जलसंग्रहण है, इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं थी़ वहीं 20 लघु प्रकल्पों में भी जलस्तर बड़ी मात्रा में घटने की जानकारी है़ इस ओर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है़

    जलाशयों की वर्तमान स्थिति

    जलाशय                                 प्रश

    • धाम प्रकल्प 39.88
    • निम्न वर्धा 61.88
    • वडगांव 38.09
    • उर्ध्व वर्धा 52.66
    • लालनाला 10.11
    • बोर प्रकल्प 57.99
    • डोंगरगांव 33.06
    • नांद प्रकल्प 07.63