डब्ल्यूएचओ ने सराहा स्वास्थ्य विभाग के काम को

  • डा.ठोसर ने लिया तिन दिन जायजा
  • देवली, वर्धा व हिंगनघाट को दी भेंट
  • अधिकारी व कर्मचारी से साधा संवाद

वर्धा. वैश्विक स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधी डा. ठोसर 3 दिन जिला दौरे पर थे. बुधवार, गुरुवार व शुक्रवार को उन्होंने वर्धा, हिंगनघाट व देवली शहर को भेंट देकर कोरोना स्थिति का जायजा लिया. पोलिओ, गोवर व कोविड-19 सहित अन्य संक्रामक बिमारियों के संबंध में बैठक लेकर सूचनाए दी. इस दौरे में डा़ ठोसर ने प्रशासन के कामकाज पर राहत व्यक्त करते स्वास्थ्य विभाग के कार्य को सराहा.तथाआगामी दिनों के लिए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर उचित दिशानिर्देश दिए.

बता दे कि, गत कुछ दिनों से जिले में कोरोना मरिजों की संख्या बढ रही है. वर्तमान में कोरोनाबाधितो का आंकडा दोसौ के पार चला गया है. प्रशासन प्रतिबंधात्मक उपाययोजना कर रहा है, किन्तु मरिज दिन ब दिन बढते जा रहे है.ऐसी स्थिति में डब्ल्यूएचओ के अकोला स्थित मुख्यालय से डा. ठोसर बुधवार को वर्धा पहुंचे. उन्होंने वर्धा, हिंगनघाट व देवली शहर का दौरा किया. इस प्रसंग पर उनके साथ सहा. जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. प्रभाकर नाईक व अन्य कर्मचारी उपस्थित थे. डा. ठोसर ने जिला सरकारी अस्पताल, उपजिला अस्पताल व ग्रामीण अस्पताल को भेंट दी.यहां कोरोना संबंधीत कामकाज का बारिकी से अवलोकन किया. स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मियों को उचित दिशानिर्देश दिए.

इस दौरे में उन्होंने कर्मचारियों की 2 बैठक भी ली. इसमें कोविड-19 के साथ ही पोलिओ, गोवर जैसी बिमारियों के स्थिति का जायजा लिया.अन्य संक्रमिति बिमारियों को लेकर सतर्कता बरतने की चेतावनी दी. डा.ठोसर व डा.प्रभाकर नाईक ने उपस्थित कर्मचारियों को मार्गदर्शन किया. स्वास्थ्य कर्मियों के काम को सराहते हुए उनकी हौसला अफजाई की. आगामी दिनों में कोरोना संक्रमन को कैसे रोका जा सकता है, इस संबंध में सूचना की. इसके अलावा उन्होंने जिला स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय को भेंट देकर डीएचओ डा. अजय डवले से  महत्वपूर्ण चर्चा की. प्रशासनिक कामकाज में कुछ खामियां उजागर हुई, इसपर उन्होंने इसे सुधारने के निर्देश भी देने की जानकारी है. कुलमिलाकर डा. ठोसर ने जिले के कामकाज पर राहत व्यक्त की़