Shab-e-Barat

  • कब्रिस्तान कमेटी ने कब्र पर चढ़ाए फूल

सेलू. मुस्लिम समुदाय में अपने दिवंगत परिजनों को याद करने का दिन शब-ए-बरात रविवार रहा. कोरोना संक्रमण के जिले में बढ़ते मामले तथा 60 घंटे के लिए कर्फ्यू के मद्देनजर शहर के कब्रिस्तान कमेटी के अन्सार इस्माइल शेख, समीर मेहबूब शेख, इमाम सैय्यद, इस्तियाक शेख और अयूब पठाण ने ऐसे नाजूक समय में दुरुद ख्वानी, कुरआन ख्वानी या किसी तरह की भी तकरीरी व अन्य कार्यक्रम नहीं करने का फैसला लिया था. इसलिए लोगों ने घरों में ही इबादत की. कमेटी ने अपनी ओर से सभी कब्रों पर फूल चढ़ाये. बताया गया कि चांद की तस्दीक के बाद शब-ए-बरात रविवार को मनाई गयी.

जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते यह फैसला लिया गया था. कमेटी की ओर से सभी को आगाह कर दिया गया था कि, अपने घरों में ही नवाफिल नमाज अदा करें. तिलावत करें और आलमे इस्लाम के सभी मरहूमिनों के लिए मग्फिरत के साथ ही मुल्क हिंदुस्तान की हिफाजत के लिए दुआएं करें. कोई भी कब्रिस्तान न पहुचे. इस नाजुक मौके पर कब्रिस्तान में लोगों के आनेजाने पर रोक लगाए जाने पर कमेटी ने खेद भी जताया. इस वजह से लोगों ने घर में ही दुवाएं खैर मांगी.