ayush

    • जिलाधिकारी ने लिया जायजा  

    वाशिम. महात्मा ज्योतिराव फुले जन स्वास्थ्य योजना व आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन स्वास्थ्य योजना के जिला संनियंत्रण व शिकायत निवारण समिति की सभा जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कार्यालय के वाकाटक सभागृह में आयोजित की गई थी़  इस सभा में योजना के अमल की प्राप्त शिकायतों का जायजा लिया गया़.

    इस अवसर पर जिला शल्य चिकित्सक डा़  मधुकर राठौड़, आईएमए के अध्यक्ष डा़ अनिल कावरखे, डा. संदीप हेडाऊ, महात्मा ज्योतिराव फुले जन स्वास्थ्य योजना के जिला समन्वयक डा़ रणजीत सरनाईक समेत महात्मा ज्योतिराव फुले जन स्वास्थ्य योजना व प्रधानमंत्री जन स्वास्थ्य योजना के अंगीकृत अस्पताल के डाक्टर, प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे़  

    इस अवसर पर जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने कहा कि महात्मा ज्योतिराव फुले जन स्वास्थ्य योजना व प्रधानमंत्री जन स्वास्थ्य योजना एकत्रित रुप से चलायी जा रही है. 3 सरकारी और 9 निजी अस्पताल का इस योजना में समावेश है़  इस योजना की जानकारी प्रत्येक पात्र लाभार्थी तक पहुंचाए़  अंगीकृत अस्पताल में दाखिल मरीजों को इस योजना का लाभ प्राप्त कराके देने के लिए संबंधित अस्पताल ने भी विशेष प्रयास करना चाहिए.

    अस्पताल में दाखिल मरीजों को योग्य जानकारी देकर उनसे आवश्यक प्रमाण पत्र की पूर्तता कराए़  जिससे शिकायत करने की नौबत मरीजों पर नही आ सकेगी़  इन अस्पतालों के स्वास्थ्य मित्रों ने योजना व आवश्यक प्रमाण पत्र की जानकारी संबंधित मरीज अथवा उनके रिश्तेदारों को देना चाहिए. उनको योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक मार्गदर्शन करना चाहिए. 

    डा़  सरनाईक ने कहा कि दोनों योजना एकत्रित रुप से चलायी जा रही है़  इस योजना की जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य मित्रों की नियुक्ति की गई है. जिले में अभी तक 6,402 मरीजों पर योजना से उपचार कर उपचार के लिए 24 करोड़ 62 लाख रुपए मंजूर किए गए है. इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 पर उपचार के लिए 20 पैकेजेस व ब्लैक फंगस पर उपचार के लिए 19 पैकेजेस उपलब्ध है. योजना के संदर्भ में 1 अप्रैल 2020 से अभी तक 51 शिकायतें प्राप्त होकर इन में से 36 शिकायतों का निपटारा किया गया है. 15 शिकायतों पर कार्रवाई शुरू है. 

    समन्वयक की ओर शिकायत प्रस्तुत करें 

    जिले के सभी राशन कार्ड धारक परिवार महात्मा ज्योतिराव फुले जन स्वास्थ्य योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होकर प्रति परिवार को 1.5 लाख रुपयों की सीमा में विविध 996 बीमारियों पर उपचार उपलब्ध किए जा रहे है़  गुर्दा प्रत्यारोपण के लिए 2.5 लाख रुपए प्रति वर्ष रुपयों तक की सीमा है. और आयुष्यमान भारत-प्रधानमंत्री जन स्वास्थ्य योजना के लिए 2011 के सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना के आधार पर लाभार्थी चयन किए गए है़.

    इस लाभार्थी परिवारों को प्रतिवर्ष 5 लाख रुपयों का स्वास्थ्य बीमा कवच दिया. उनको विविध 1209 उपचार उपलब्ध है़  इस योजना के अमल के संदर्भ में मरीजों की कुछ शिकायतें होने पर उन्होंने जिला सामान्य अस्पताल के महात्मा ज्योतिराव फुले जनस्वास्थ्य योजना के जिला समन्वयक की ओर प्रस्तुत करने का आहवान जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने किया है़