78 farmers made losses in bogus seeds

वाशिम. जिले में इस वर्ष खरीफ मौसम में विविध कंपनियों के सोयाबीन बीज अंकुरीत न होने की घटना बड़े प्रमाण में होने से किसानों को नुकसान हुआ था.  दूसरी बार, तीसरी बार बुआई करना पड़ा इस प्रकरण में कृषि विभाग की ओर 4,334 शिकायतें प्राप्त हुए थे. जिसमें कृषि विभाग ने 88 शिकायतों में सत्यता पाई गई, जिसमें से 78 किसानों को नुकसान भरपाई दी गई. 10 किसानों के प्रकरण कार्रवाई में है.  

इस वर्ष के खरीफ मौसम में किसानों ने सोयाबीन बीजों की बुआई करने के बाद अनेक स्थानों पर यह बीज अंकुरीत नही होने से किसानों ने कृषि विभाग की ओर शिकायतें की थी़  इस पर सरकार ने सत्यापन करने के आदेश दिए थे. इसके अनुसार जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी ने 16 दस्तों की नियुक्ति कर अंकुरीत न होनेवाले बीजों के निरीक्षण करने के आदेश दिए थे. 

इन दस्तों के निरीक्षण के बाद अधिक तर किसानों ने पर्याप्त बारिश की प्रतीक्षा न करते हुए सोयाबीन की बुआई करने, कुछ ने बुआई करने के बाद जोरदार बारिश होने से बीज अंकुरीत न होने का सामने आया. इस दौरान 88 प्रकरणों में बीज सदोष पाए गए़  सदोष पाए जानेवाले बीजों के प्रकरण में संबंधितों पर नियम के अनुसार कार्रवाई की जा रही है.

जिले में इस वर्ष खरीफ मौसम में किसानों ने बुआई किए हुए सोयाबीन बीज अंकुरीत न होने वाले 4,334 किसानों ने शिकायतें कृषि विभाग को प्राप्त होने के बाद जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी ने 16 दस्ते निरीक्षण के लिए नियुक्त किए थे. इन दस्तो से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 43 कंपनियों के बीज सदोष पाए गए प्रकरण में 1,968 के बीज कानून के अनुसार कृषि विभाग ने 43 कंपनियो पर कोर्ट केसेस दाखिल किए है तथा 78 किसानों को नुकसान भरपाई दी है.