दौड़ती निजी बस में युवती पर अत्याचार – मालेगांव हद की घटना

  • पीड़िता की पुणे में शिकायत
  • मालेगांव में मामला दर्ज 

वाशिम. नागपुर से पुणे में निजी बस से यात्रा करनेवाली 24 वर्षीय युवती पर शस्त्र की धमकी पर अत्याचार किया गया. यह घटना दौड़ती बस में मालेगांव पुलिस की हद में घटी. इस प्रकरण में पीड़िता ने राजनगांव में पहुंचने पर शिकायत दी. पुणे जिले के राजनगांव पुलिस स्टेशन की ओर से इस प्रकरण को मालेगांव पुलिस स्टेशन को सौंप देने से उक्त घटना प्रकाश में आई. बस का क्लिनर समीर देवकर इस घटना का आरोपी है.

गोंदिया जिले की गोरेगांव निवासी 24 वर्षीय युवती यह राजनगांव एमआईडीसी तहसील शिरूर जिला पुणे में एका इंजिनीयरिंग कंपनी में कार्यरत है. 6 जनवरी को पीड़ित युवती यह पुणे को जाने के लिए नागपुर से गुडविल नाम के निजी बस क्रमांक यूपी 73 ए- 8020 में बैठी थी. इस दौरान क्लिनर समीर देवकर (28) निवासी सिताबर्डी आरोपी ने निजी बस शुरू रहते समय वाशिम जिले के कारंजा, मालेगांव से बुलढाना जिले के मेहकर इस यात्रा के दौरान इस युवती को चाकू की नोंक पर धमकी देकर 2 बार अत्याचार किया.

इस प्रकरण की जानकारी देने पर दौड़ती बस से फेंकने की धमकी दी. पीड़िता ने घटना की जानकारी मोबाइल से फ्रेंड को दी. उसके बाद पीड़िता ने फ्रेंड के साथ राजनगांव पुलिस स्टेशन में शिकायत दी. राजनगांव पुलिस ने शिकायत दर्ज कर बस हिरासत में ली. आरोपी समीर देवकर फरार होकर पुलिस ने प्रकरण मालेगांव पुलिस स्टेशन को सौंप दिया है.

उसके अनुसार मालेगांव पुलिस ने आरोपी समीर देवकर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर बस हिरासत में लेकर मालेगांव पुलिस में लाई. आगे की जांच जिला पुलिस अधीक्षक वसंत परदेशी के मार्गदर्शन में थानेदार आधारसिंग सोनोने के नेतृत्व में सहायक पुलिस निरीक्षक पुष्पलता वाघ कर रहे है. आरोपी की खोज में पुलिस का एक पथक नागपुर में रवाना होने की जानकारी है.