Aadhaar registration of stuck children, delay in registration of 19,000 children

वाशिम. जिले की आंगनवाड़ी केंद्र के 88,688 में से 69,626 बालकों का आधार पंजीकरण हुआ है तथा 19,000 बालकों का आधार पंजीकरण अभी भी नहीं हुआ है़  कोरोना का प्रादुर्भाव रोकने के लिए मार्च से लाकडाउन किया गया था, जिसके  कारण आंगनवाड़ी के 19,000 बालकों का आधार पंजीकरण में विलंब हुआ है़  जिले में 1,076 आंगनवाड़ी केंद्र  हैं.  इनमें 88,688 बालकों का आधार पंजीकरण हुआ है़  आंगनवाड़ी केंद्र के बालकों को पोषण आहार व अन्य योजना के लाभ प्राप्ति के लिए आधार पंजीयन आवश्यक है़  लेकिन कुछ कारणों से जहां पर आधार पंजीकरण नहीं हो सका है. वहां ऑफ लाइन पद्धति से पोषण आहार व अन्य योजना का लाभ देने की छूट महिला व बाल कल्याण विभाग ने दी है़  

पर्यवेक्षिकाओं को दिया गया प्रशिक्षण
इन बालकों के आधार पंजीकरण करने के लिए पर्यवेक्षिकाओं को मोबाइल टैब दिए गए है़  एक पर्यवेक्षिका के पास  25 से 30 आंगनवाड़ी केंद्र की जिम्मेदारी रहती है़  जिले में पहले चरण में 40 मोबाइल टैब मिले हैं. पर्यवेक्षिकाओं को योग्य प्रशिक्षण दिया गया है़  इसके बाद मार्च माह से कोरोना वायरस का प्रादुर्भाव रोकने के लिए लाकडाउन किया गया. जिसके चलते पंजीकरण पर रोक लगाई गई, जिससे बालकों का आधार पंजीकरण ठप्प हो गया है़  आधार पंजीकरण के लिए आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिका को टैब व थम मशीनें दी गई थी़  आधार पंजीकरण के लिए महिला व बालकल्याण विभाग द्वारा प्राप्त थम मशीन लाकडाउन की अवधि में जिलाधिकारी कार्यालय में जमा किए गए हैं.