रश्वित प्रकरण में   सव्हिील इंजिनियर के विरोध में एसीबी की कार्यवाई

वाशिम. भूखंड अकृषक करने के लिए 50 हजार रुपयो की रश्वित की मांग करनेवाले एक सव्हिील इंजिनियर के खिलाफ यहा के एन्टी करप्शन ब्यूरो ने अपराध दर्ज कराके आरोपी को गिरप्तार कर लिया है़ प्रकरण में गत

वाशिम. भूखंड अकृषक करने के लिए  50 हजार रुपयो की रश्वित की मांग करनेवाले एक सव्हिील इंजिनियर के खिलाफ यहा के एन्टी करप्शन ब्यूरो ने अपराध दर्ज कराके आरोपी को गिरप्तार कर लिया है़ प्रकरण में गत 19 अगस्त को शिकायत कर्ता ने यहा के एसीबी कार्यालय में पंचो के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी ,कि स्थानिय विनायक नगर में उसके भूखंड को नगर परिषद वाशिम से अकृषक करने के लिए यहा के गणेश पेठ निवासी निजी व्यक्ति सव्हिील इंजिनियर अशोक देशमुख 54 वर्ष ने 50 हजार रुपये की रश्वित मांगी थी़.

शिकायत कर्ता ने अपनी शिकायत में यह भी बताया कि, निजी व्यक्ति ने शासकीय कार्य करने हेतु स्वयं की ओर से 1 हजार रुपये खर्च करने की बात शिकायत कर्ता को बतायी़  व कहा कि ,नगर परिषद वाशिम की ओर से वह उसका कार्य कर देगा़ इस शिकायत के बाद एसीबी के दल ने पंचो के समक्ष ही 19 अगस्त 2019 को प्रथम जांच में आरोपी ने पंचो के समक्ष रश्वित मांगने की बात का स्विकार किया़ बाद में आरोपी ने शिकायत कर्ता से पंचो के समक्ष 500 रुपये लिए़ पश्चात 26 सितबंर 2019 को फिर पंचो के समक्ष जांच करने पर आरोपी ने शिकायत कर्ता को बताया कि , ऩ प के पूर्व के मुख्यधिकारी सेवानिवृत्त होने से उनके स्थान पर प्रभारी मुख्यधिकारी के आने के कारण कार्य पूर्ण होने मे देरी हो रही है़.

जांच के दौरान ही आरोपी शिकायत कर्ता को नगर परिषद कार्यालय में ले जाकर वहां प्रस्तुत आवेदन पत्र की जानकारी लेने को कहा़ 27 सितबंर 2019 को मुख्यधिकारी की ओर से ऩ प़ कर्मचारी को शिकायत कर्ता के घर भेजकर तथा पोष्ट व्दारा पत्र भेजकर अवगत कराया कि, आपका भूखंड अकृषक नही होगा़ जिस के बाद शिकायत कर्ता ने आरोपी से फोन पर सपंर्क करने का प्रयास किया़ लेकिन आरोपी ने कोई प्रतिसाद नही दिया़ जिस से आरोपी शिकायत कर्ता से रश्वित की राशी नही स्विकारेगा़ यह बात स्पष्ट हुई़.

ऐसी ही जानकारी एसीबी को शिकायत कर्ता ने दी़ जिसके बाद एसीबी ने अपने टिम के साथ 16 अक्टुबर को आरोपी सव्हिील इंजिनियर अशोक देशमुख को 50 हजार रुपयो की रश्वित मांगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया़ व उसके खिलाफ भ्रष्टाचार प्रतिबंधक कानुन की धारा 7 (अ) के तहत अपराध दर्ज करने की कार्यवाई शुरु की़ यह कार्यवाई एसीबी अमरावती विभाग के पुलिस अधक्षिक श्रींकात घिवरे,व अप्पर अधक्षिक पंजाबराव डोंगरदिवे के मार्गदर्शन में यहा के एसीबी के पुलिस उपअधक्षिक एस़ वि़ शेलके ,सहा़ पुलिस उपअधक्षिक नंदकिशोर परलकर ,पुलिस नायक सुनिल मुंडे ,रवद्रिं घरत , विनोद अवगले पाटील आदि ने की़