Shambhuraj Desai

    वाशिम. जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण का प्रमाण कम होने से जिले में पाबंदी शिथिल की है. जिले में कोरोना का संक्रमण कम हुआ तो भी कोरोना सुरक्षा नियमों का पालन करना, मास्क का उपयोग करना, भीड़ टालना जैसी उपाय योजना पर इसके आगे भी जोर देकर कोरोना टेस्टिंग की संख्या कायम रखने के निर्देश पालकमंत्री शंभूराज देसाई ने दिए है़  जिले में कोरोना की वर्तमान स्थिति व खरीफ मौसम के संदर्भ का जायजा लेने के लिए दूरदृश्य प्रणाली द्वारा आयोजित जायजा बैठक में वे बोल रहे थे़.

    इस अवसर पर जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस., जिप की मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसुमना पंत, पुलिस अधीक्षक वसंत परदेशी, सहायक जिलाधिकारी कुलदीप जंगम, निवासी उप जिलाधिकारी शैलेश हिंगे, जिला शल्य चिकित्सक डा़ मधुकर राठौड़, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़ अविनाश आहेर, जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी शंकर तोटावार, जिला अग्रणी बैंक व्यवस्थापक दत्तात्रय निनावकर आदि उपस्थित थे़  

    पालकमंत्री देसाई ने कहा कि विगत सात दिनों में जिले के कोरोना संक्रमण का प्रमाण कम हो गया है़  यह जिले के लिए राहत दायक बात है़  इसलिए जिले में पाबंदी शिथिल करके सभी दूकानें शुरू करने के लिए अनुमति दी गई है़  लेकिन एक ही स्थान पर भीड़ नही होना इस का भी ध्यान रखना आवश्यक है़  उसी प्रकार से मरीज संख्या में कमी आयी तो भी कोरोना टेस्टिंग का प्रमाण कम नही होना इस का ध्यान रखने की सूचना दी.

    ग्रामस्तर पर स्थापिन किए गए क्वारंटाइन कक्ष में बिजली, पीने का पानी, स्वच्छतागृह जैसे बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराए़ उसी प्रकार से जिले में कोरोना संक्रमण से पालक गवाए अनाथ बालको की जानकारी संकलित करें. खरीफ मौसम में जिले के किसानों को बीज, खाद की किल्लत नही होना इस पर ध्यान दे. किसानों को उनके खेत पर खाद, बीज उपलब्ध करवाकर देने की मुहिम अधिक गतिमान करके ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस मुहिम से सीधे उनके खेत पर खाद, बीज देने की सूचना देकर जिले के फसल कर्ज वितरण का जायजा भी लिया है़ 

    एक्टिव मरीजों की संख्या कम  

    जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने जिले की जानकारी देते हुए कहा कि विगत सात दिनों में जिले का पाजिटिविटी रेट 12 से 4 से 5 पर आया है़  मरीज संख्या 100 से 150 के दौरान जिले के एक्टिव मरीजों की संख्या भी कम होकर 2 हजार के भीतर है़  जिले में अभी संक्रमितों के संस्थात्मक क्वारंटाइन पर जोर दिया जाने से अभी करीब 78 प्रतिशत मरीज संस्थात्मक क्वारंटाइन में है. जिले में गतवर्ष खरीफ मौसम में करीब 23 हजार किसानों को 209 करोड़ फसल कर्ज वितरित किया गया है़  इस वर्ष अभी तक 64,049 किसानों को 517 करोड़ 51 लाख रुपए फसल कर्ज का वितरण किया है़