नहीं
Building and sign bank (done in 3d)

  • जिलास्तरीय सलाहकार समिति की सभा हुई

वाशिम. कृषि, कृषिपूरक और अन्य प्राथमिकता क्षेत्रों के लिए बैंकों के मार्फत किए जानेवाले कर्ज वितरण का जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने जायजा लिया़  इस के लिए जिलाधिकारी कार्यालय के वाकाटक सभागृह में जिलास्तरीय बैंक सलाहकार समिति की बैठक का आयोजन किया गया था़.

इस अवसर पर भारतीय रिजर्व बैंक के उप महाव्यवस्थापक बी.आर.सिंह, जिला अग्रणी बैंक के व्यवस्थापक दत्तात्रय निनावकर, जिला उपनिबंधक सहकारी संस्था कार्यालय के सहायक निबंधक गडेकर, नाबार्ड के जिला व्यवस्थापक विजय खंडरे, जिला कौशल्य विकास, रोजगार व उद्योजकता मार्गदर्शन केंद्र की सहायक आयुक्त सुनंदा बजाज सहित सरकारी अधिकारी, महामंडल के जिला व्यवस्थापक व बैंक के जिला समन्वयक आदि उपस्थित थे़  जून व सितंबर के आखिर में समाप्त हुए 3 माह में विविध क्षेत्रों में हुए कर्ज वितरण का जायजा लिया गया़.

इस अवसर पर जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने कहा कि कृषि कर्ज, कृषि अवधि कर्ज वितरण को गति प्रदान करने के लिए बैंकों ने विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है़  उस दृष्टि से अगले आर्थिक वर्ष के कर्ज वितरण का नियोजन अभी से शुरू करे़  विविध सरकारी आर्थिक विकास महामंडल से चलाएं जानेवाले सरकार पुरस्कृत योजना में कर्ज वितरण के प्रकरण मंजूर करने के लिए भी बैंकों ने सकारात्मक दृष्टि कोन रखना चाहिए.

जिले के लघु उद्योगों को सहायता उपलब्ध करें, कर्ज प्रकरण मंजूर करने का प्रमाण बढ़ाए, इन कर्ज प्रकरण में कुछ त्रुटी रहने पर संबंधित सरकारी कार्यालय, महामंडल की जिलास्तरीय अधिकारियों के निदर्शन में लाकर देना व उसकी पूर्तता करवाकर लेने की सूचना जिलाधिकारी ने दी.

संभावित कर्ज योजना 2021-22 का प्रकाशन

सन 2021-22 इस आर्थिक वर्ष के लिए जिले में कृषि व अन्य प्राधान्य क्षेत्रों में कर्ज वितरण करने के लिए नाबार्ड मार्फत तैयार किए गए संभावित कर्ज वितरण ढाचे का समावेश रहनेवाले संभावित कर्ज योजना 2021-22 इस पुस्तिका का विमोचन जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. के हाथों किया गया़  वर्ष 2021 -22 के लिए फसल कर्ज, कृषि अवधि कर्ज और अन्य प्राधान्य क्षेत्र इस प्रकार से कुल 2,266 करोड़ 49 लाख रुपयों का संभावित कर्ज वितरण ढाचा तैयार किया गया़  यह जानकारी नाबार्ड के जिला व्यवस्थापक खंडरे ने दी है.