जिले में जल स्तर बढ़ाने के लिए प्रशासन का पूरा सहयोग

    • निवासी उप जिलाधिकारी हिंगे

    वाशिम. जिले में जलस्तर बढ़ाने के लिए सभी नदी, नालों का गहराइकरण व चौड़ाइकरण, उगम स्थान से आखरी तक काम करने की मानसिकता भारतीय जैन संगठन, आर्ट ऑफ लिविंग व पानी फाउंडेशन के साथ साथ अन्य सामाजिक संगठन एक मंच पर आकर कार्य करने के लिए पहल करने के कारण जिले में सिंचाई क्षमता में वृध्दि के लिए संजीवनी साबित होनेवाले हैं.

    इस कार्य के लिए जिला प्रशासन की ओर से पूर्ण सहयोग करने का प्रतिपादन निवासी उप जिलाधिकारी शैलेश हिंगे ने किया है.  स्थानीय जिलाधिकारी कार्यालय में हिंगे के कक्ष में आर्ट ऑफ लिविंग के डा़ हरीश बाहेती, सुजलाम सुफलाम अभियान के जिला समन्वयक शिखरचंद बागरेचा, सह समन्वयक तथा भारतीय जैन संगठन के जिलाध्यक्ष नीलेश सोमाणी, पानी फाउंडेशन के सुभाष नानवटे की संयुक्त रुप से एक बैठक आयोजित की गई थी़.

    जिस में संपूर्ण जिले के तहसीलों का जायजा लेकर पानी क्षेत्र में पुख्ता कार्य करने का निर्धार किया गया़  इस दृष्टि से नियोजित नक्शे, जगह का निरीक्षण इस विषय पर विस्तृत चर्चा की गई. जिला प्रशासन, सामाजिक संगठन व जनसहयोग से यह कार्य पुर्णत्व की ओर ले जाने का संकल्प उपस्थितों ने किया. इस संबंध में निवासी उप जिलाधिकारी शैलेश हिंगे ने मार्गदर्शन करते समय पानी क्षेत्र में जिले में काम करने के लिए जिलाधिकारी व जिला प्रशासन पूरी तरह से कार्य करने के लिए उत्सुक है़.

    प्रशासन की ओर से सहयोग रहने की बात उन्होंने कही. शीघ्र ही जिले में एक तहसील का चयन कर इन कामों की शुरूआत करने का मानस डा.हरीश बाहेती ने प्रकट किया़  इस अवसर पर बागरेचा व सोमाणी ने भारतीय जैन संगठन के माध्यम से जिले में पानी क्षेत्र में किए कार्यो की जानकारी दी़. बैठक में केवल चिंतन न करते हुए प्रत्यक्ष में कामों का प्रारंभ करने की दृष्टि से पांगरी महादेव गांव के शेष काम पूर्ण करने का निश्चय किया गया.

    इस काम के लिए निजी रुप से मदद करने की डा़ बाहेती ने घोषणा की़  इन कामों के लिए भारतीय जैन संगठन की ओर से  पोकलैन मशीन उपलब्ध करने की घोषणा बागरेचा व सोमाणी ने की़  जिससे इन गांवों के पानी की समस्या हल होने लगी़. शीघ्र ही अब जिले भर में जलभराव करने की दृष्टि से प्रारंभ होनेवाला है़.