लिंगायत समाज को संगठित होने की आवश्यकता : काष्टे

वाशिम. शिवा संगठना के संस्थापक अध्यक्ष प्रा़ मनोहर धांडे का हाथ अधिक मजबूत करने के लिए लिंगायत समाज ने संगठित होकर अपने न्याय के लिए संघर्ष करने की आवश्यकता रहने का प्रतिपादन शिवा संगठना के वाशिम

वाशिम. शिवा संगठना के संस्थापक अध्यक्ष प्रा़ मनोहर धांडे का हाथ अधिक मजबूत करने के लिए लिंगायत समाज ने संगठित होकर अपने न्याय के लिए संघर्ष करने की आवश्यकता रहने का प्रतिपादन शिवा संगठना के वाशिम जिला अध्यक्ष संजय आप्पा काष्टे ने किया है. अखिल भारतीय वीरशैव व युवक संगठन वाशिम जिला पदाधिकारियों की एक बैठक वीरशैव मठ संस्थान काटा में हुई. इस बैठक में शिवा संगठन के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. मनोहर धांडे व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अभय कल्लावार के मार्गदर्शन में वाशिम जिला अध्यक्ष संजय आप्पा काष्टे ने वाशिम जिला व तालुका पदाधिकारियों की नियुक्तियां घोषित की. कार्यक्रम के प्रारंभ में वीरशैव लिंगायत समाज के महात्मा बसवेश्वर की प्रतिमा का उपस्थित मान्यवरों के हाथों पूजन कर माल्यार्पण किया गया.

आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता में समाज के जेष्ठ नागरिक मलकाआप्पा बोलवार व अन्य प्रमुखता में शिवा संगठना के जिलाअध्यक्ष संजय आप्पा काष्टे, महिला आघाडी की जिलाअध्यक्षा रेखा रावले, किशोरआप्पा पेंढारकर, गजाननआप्पा बोलवार, माधवआप्पा संगवार, अमर बुकसेटवार, नंदकिशोर निंबलवार, सागरआप्पा सावले, अक्षय बारसे आदि उपस्थित थे. कार्यक्रम के दौरान लिंगायत समाज के नंदकिशोर आप्पा निंबलवार की कांग्रेस सेवादल के वाशिम जिला महासचिव पद के लिए चयन करने पर उनका शाल, श्रीफल देकर सत्कार किया गया़ शिवा संगठना के पदाधिकारियों की नियुक्तियां घोषित की गई.

रावले के हाथों दिया नियुक्ति पत्र
इन में जिला उपाध्यक्ष पद के लिए रविआप्पा निंबलवार, महिला आघाडी महासचिव पद के लिए अमृता बोलवार, वाशिम तालुका अध्यक्ष पदके लिए गंगाधरआप्पा बोलवार, तालुका उपाध्यक्ष के लिए निलेश रावले, महिला आघाडी तालुकाध्यक्ष पदके लिए अर्चना नटाल, महिला शाखाध्यक्षा के लिए बेबीताई निंबलवार, उपाध्यक्ष के लिए वच्छला वाघे तो कार्यकारणी सदस्यों के लिए रेखाबाई परसवार, सुमित्रा वाघे, दिपाली पते, कमल बोलवार, शांता पिंपले, लता रासकर, रेखा निंबलवार, शिल्पा निंबलवार आदि का चयन कर रेखा रावले के हाथों नियुक्ति पत्र दिया गया.

इस अवसर पर उपस्थित मान्यवरों ने मार्गदर्शन किया. कार्यक्रम की सफलता के लिए समाजबांधवों ने परिश्रम किया. कार्यक्रम का संचलन भगवानआप्पा कोतीवार ने किया. आभार विशाल परसवार ने माना.