रणनीति बनाने में जुटने लगे राजनीतिक दल

वाशिम. 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव की घोषणा की गई है. घोषणा होते ही जिले के राजनीतिक दलों की सरगर्मिया और अधिक तेज हो गई है़ राज्य चुनाव के लिए जिले में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, भाजपा,

वाशिम. 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव की घोषणा की गई है. घोषणा होते ही जिले के राजनीतिक दलों की सरगर्मिया और अधिक तेज हो गई है़  राज्य चुनाव के लिए जिले में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, भाजपा, शिवसेना, बसपा, भारिप, मराठा ब्रिगेड, विदर्भ माझा पार्टी, वंचित आघाड़ी दलों ने अपनी-अपनी रणनीति बनाने का कार्य शुरू किया है़  फिलहाल जिले के वाशिम-मंगरुलपीर (आरक्षित) कारंजा-मानोरा व रिसोड -मालेगांव इन तीन विधानसभा में युति,आघाडी में बंटवारे को लेकर निश्चित रूप से तय नहीं हुआ है़  सीटों का बंटवारा नहीं होने से अभी भले ही स्थिति स्पष्ट नहीं है़  लेकिन सभी दलों ने तैयारियां शुरु कर दी है़ 

जिले में इस बार विविध दलों में इच्छुकों की भारी भीड़ होने से बगावत की संभावना भी व्यक्त की जा रही है़ प्रमुख दलों की इच्छुक उम्मीदवारों ने चुनाव मैदान में उतरने के लिए तैयारी करना शुरू की है़ ऐसे में अब टिकट नहीं मिला तो भी किसी भी परिस्थिति में पीछे हटना नहीं है़ ऐसा मत व्यक्त करते हुए कुछ इच्छुक उम्मीदवारों में बगावत करने की संभावना व्यक्त की जा रही है़  प्रमुख दलों की ओर से हमें ही उम्मीदवारी देने का आश्वासन दिया जाने का भी कुछ इच्छुक उम्मीदवारों ने बताया  है़ 

-अनेक स्थानों पर चेहरे बदलने की चर्चां
भाजपा की ओर से अनेक स्थानों पर  उम्मीदवार बदलने की चर्चा से वाशिम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में इच्छुकों की भारी भीड़ है़ दल में रहने वाले पुराने पदाधिकारी, कार्यकर्ता के साथ ही इस बार नए से आने वाले इच्छुक उम्मीदवार भी चुनाव के लिए तैयारी करते नजर आ रहे है़ वाशिम में विधायक लखन मलिक की उम्मीदवारी निश्चित रहने का उनके समर्थकों व्दारा भले ही बताया जा रहा है़ लेकिन यहां पर भाजपा की ओर से संगिता इंगोले, नितेश मलिक, राहुल तुपसांडे, करुणा कल्ले, रेखा शेगोकार समेत अन्य इच्छुक होने से इस बार नए चेहरा देने की संभावना को नकारा नहीं जा सकता है़.

वाशिम निर्वाचन क्षेत्र भाजपा के पास रहा तो भी युति होने पर यह निर्वाचन क्षेत्र शिवसेना की ओर जा सकता है़ इस के लिए शिवसेना से निलेश पेंढारकर, राजभैया पवार का नाम भी इच्छुक करके सामने आ रहा है़ इसी प्रकार से कांग्रेस से पूर्व विधायक सुरेश इंगले, वाय के इंगोले , एड़ पी पी अंभोरे, युति नही होने पर राष्टवादी कांग्रेस से रिना खंडारे का नाम चर्चा में आ रहा है़ वंचित आघाडी से डा़ नरेश इंगले, विजय मनवर के नाम भी चर्चा में आ रहे है़  कारंजा सामान्य निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा की ओर से विधायक राजेंद्र पाटणी का नाम होकर युति नहीं होने पर शिवसेना की ओर से प्रकाशदादा डहाके का नाम अग्रक्रम में बताया जा रहा है़ यहा पर कांग्रेस से हरिभाऊ राठोड,अ़ राजीक अ़ अजिम,एड़ संदेश जिंतुरकर, तो राष्ट्रवादी की ओर डा शामकुमार जाधव इच्छुक दावेदार है़.

रिसोड विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में कांग्रेस की ओर से केवल एक विधायक अमित झनक का नाम अग्रसर है़ यहा पर भाजपा की ओर से भाजयुमो उपाध्यक्ष राजु पाटिल राजे, एड विजय जाधव के साथ अन्य 11 इच्छुक है़ राजु पाटील राजे, एड विजय जाधव ये दोनों भी मजबूत उम्मीदवार होने से रिसोड में उनका वर्चस्व है़ यहा पर भाजपा किस को उम्मीदवारी देगी इसे लेकर प्रतिदिन चर्चा जोर पकड़ रही है़ यहा युति नहीं होने पर शिवसेना कीओर विश्वनाथ सानप का नाम सामने आ रहा है़ जिले के तीनों निर्वाचन क्षेत्र में इच्छुको भारी भीड़ नजर आने से प्रमुख दलों में बगावत की संभावना होने राजनीतिक क्षेत्रों में चर्चा जोर पकड़ रही है़