वीकेंड लाकडाउन में दूकानें खुली, लोगों के मन से निकला कोरोना का खौफ

    मानोरा. कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कम होते ही नागरिकों के मन में से कोरोना का डर  निकलता जा रहा है. संपूर्ण शहर में कोई पाबंदी न रहने से वीकेंड लाकडाउन रहते हुए भी शनिवार और रविवार को शहर के सभी प्रतिष्ठान खुले दिखाई दिए. अनुशासन नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है.

    फिर भी सरकार, प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई ना होने से नागरिकों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं. खुले आम नागरिक बिना मास्क पहने घूम रहे हैं. सोशल डिस्टेसिंग का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है. यह देखकर ऐसा लग रहा है कि कोरोना पूरी तरह खत्म हो चुका है. प्रशासन की ढिलाई से तीसरी लहर के पहले ही पुराना का कहर बढ़ जाएगा.

    इसीलिए सावधानी बरतना आवश्यक है. जब तक नागरिक अपनी खुद जिम्मेदारी नहीं समझेंगे तब तक लापरवाही पर अंकुश लगाना मुश्किल है. कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ने पर प्रशासन कुछ नहीं कर पाएगा. सोमवार से शुक्रवार तक दूकान 4 बजे तक खुली रखने की अनुमति है. लेकिन दूकानदार अपने प्रतिष्ठान देर रात तक खुले रखते हैं. इसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ सकता है.