ajit pawar

    वाशिम. मानव विकास निर्देशांक में पिछाड़ा पर रहनेवाले वाशिम जिले के मराठा व कुणबी  समाज के विद्यार्थियों को विविध स्पर्धा परीक्षा की नि:शुल्क ट्यूशन व मार्गदर्शन, व्यवसायाभिमुख प्रशिक्षण व उच्च शिक्षा के लिए फेलोशिप की सुविधा उपलब्ध होने के लिए छत्रपति शाहू महाराज संशोधन, प्रशिक्षण व मानव विकास संस्था अर्थात सारथी का विभागीय प्रशिक्षण केंद्र वाशिम में शुरू करने की मांग भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री नागेश घोपे ने की है. राज्य के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार को इस संदर्भ में एक पत्र भेजा है़  

    मराठा समाज को विकास के मुख्य प्रवाह में समाविष्ट करने के लिए शिक्षा व नौकरी में आरक्षण लागू करने की मांग सकल मराठा समाज की ओर से हो रही है़  इस दौरान मराठा व कुणबी समाज के स्पर्धा परीक्षा की तैयारी करनेवाले विद्यार्थियों को नि:शुल्क ट्युशन, मार्गदर्शन, उच्च शिक्षा के लिए पात्र विद्यार्थियों को फेलोशिप, व्यावसायीक प्रशिक्षण आदि की सुविधा होने के लिए बार्टी की तर्ज पर एक संस्था शुरू करने की मांग भी सकल मराठा समाज से हो रही थी़.

    तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मराठा समाज के इस मांग की दखल लेते हुए छत्रपति शाहू महाराज संशोधन, प्रशिक्षण व मानव विकास संस्था अर्थात सारथी की निर्मिति की थी. कुछ महीने के पूर्व सांसद छत्रपति संभाजी महाराज के पहल से राज्य के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने इस सारथी स्वायत्तता प्रदान करके विद्यार्थियों के हितो के लिए निधि का प्रावधान किया था़  उस समय पुणे में आयोजित बैठक में उप मुख्यमंत्री ने राज्य के आठ राजस्व विभाग में सारथी प्रशिक्षण केंद्र शुरू करने की घोषणा की थी़.

    इस में अमरावती विभाग भी समाविष्ट है़  अमरावती विभाग के पांच जिलों में वाशिम जिला शैक्षणिक दृष्टि से अत्यंत पिछड़ा हुआ है. मानव विकास निर्देशांक भी वाशिम पिछाड़ी पर है़  जिससे इन जिले के मराठा व कुणबी समाज के  विद्यार्थियों के हितो के लिए अमरावती विभाग में प्रस्तावित सारथी का विभागीय प्रशिक्षण केंद्र वाशिम जिले में शुरू करने की मांग नागेश घोपे ने की है़  इस संबंधि राज्य के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार को एक पत्र भेजा है़  

    अमरावती में विद्यापीठ तो अकोला में कृषि विद्यापीठ 

    अमरावती विभाग में आनेवाले अमरावती में संत गाडगेबाबा विद्यापीठ तो अकोला में डा. पंजाबराव देशमुख कृषि विद्यापीठ कार्यरत है. यवतमाल में भी सरकारी मेडिकल कालेज है़  अन्य चार जिलों की तुलना में वाशिम में उच्च शिक्षा के लिए कोई भी सरकारी दालन उपलब्ध नही. परिणाम तहा पांचों जिलों में से वाशिम जिला शिक्षा में पिछड़ा हुआ है़  इसलिए सारथी का विभागीय केंद्र वाशिम को शुरू करके  शैक्षणिक अनुशेष भरके निकाला जा सकेगा.