एक ही समय में मंगरुलपीर डिपो की दो एसटी बसें खराब

मंगरुलपीर. यात्रियों व छात्रों से खचाखच भरी मंगरुलपीर डिपो की दो एसटी बसें दस किमी के अंतराल पर तकनीकी खराबी के कारण फेल हो गयी. जिससे बसों में यात्रा करने वाले यात्री व स्कूल से घर लौट रहे छात्रों

मंगरुलपीर. यात्रियों व छात्रों से खचाखच भरी मंगरुलपीर डिपो की दो एसटी बसें दस किमी के अंतराल पर तकनीकी खराबी के कारण फेल हो गयी. जिससे बसों में यात्रा करने वाले यात्री व स्कूल से घर लौट रहे छात्रों को भारी परेशानी उठानी पड़ी. यह मामला 19 सितंबर की देर शाम दस्तापुर व मसोला मोड़ का है.

दूसरी बसे के इंतजार में घंटों खड़े रहे
दूसरी बस के आने तक सभी को घर जाने के लिए घंटों राह ताकनी पड़ी. मंगरुलपीर डिपो की दो बसें यात्रियों को लेकर डिपो से 5 बजे के दौरान निकली, जिसमें एक बस अनसींग तो दूसरी बस वटफल के लिए छोड़ी गई थी. इन दोनों बसों में यात्री व छात्र छात्राओं का समावेश था.

टायर हो गया पंचर
अनसींग जाने वाली बस का टायर दस्तापुर के समीप पंचर हो गया और वटफल जानेवाली बसों को यात्री व छात्रों को घंटों तक दूसरी बसों के जाने तक राह ताकनी पड़ी. मंगरुलपीर डिपो में कबाड़ बसों की भरमार है. 19 सितंबर को तकनीकी समस्या के कारण फेल हुई बसों में अधिक संख्या छात्रों की थी. धाणोरा की शाला में शिक्षा ग्रहण करने वाले सैकड़ों छात्र भी इन्हीं दोनों बसों से अपने गांव जाते हैं. किंतु बसों के फेल होने से छात्रों को जाने के लिए कोई प्रबंध न रहने से कुछ शिक्षकों को दूसरी बसों के आने तक छात्रों के लिए शाला प्रांगण में ही रुकने की नौबत आई गई.