File Photo
File Photo

वाशिम. राष्ट्रीय कुष्ठरोग निर्मूलन कार्यक्रम अंर्तगत जिले में गत 24 सितबंर से 9 अक्टूबर तक कुष्ठरोग खोज मुहिम चलाई गई. इस मुहिम अंर्तगत स्वास्थ्य विभाग के 1,122 दस्तों ने 93 लाख 38 हजार 271 लोगों की

वाशिम. राष्ट्रीय कुष्ठरोग निर्मूलन कार्यक्रम अंर्तगत जिले में गत 24 सितबंर से 9 अक्टूबर तक कुष्ठरोग खोज मुहिम चलाई गई. इस मुहिम अंर्तगत स्वास्थ्य विभाग के 1,122 दस्तों ने 93 लाख 38 हजार 271 लोगों की स्वास्थ की जांच की.

मरीजों का उपचार शुरू
इसमें 3,280 संदिग्ध मरीज पाए गए़ इनमें प्रत्यक्ष रूप में 30 मरीज पाए जाने से उन पर उपचार शुरू किए गए है. शासन की ओर से सन 2017-18 में कुष्ठरोग का प्रमाण प्रति दस हजार को 0.80 से अधिक रहने वाले 22 जिलों में खोज मुहिम चलाई गई. इसमें वाशिम जिले का समावेश किया गया था. जिले में 24 सितबंर से 9 अक्टूबर तक चलाई गई कुष्ठरोग खोज मुहिम में गांव स्तरों पर वैद्यकीय अधिकारी, स्वास्थ सहाय्यक, आरोग्य सेवक, सेविका, आशा कार्यकर्ता, स्वंयसेवक आदि लोगों की जांच की गई़.

1,122 दस्तों ने दी घरों में भेंट
गत 15 दिनों में 1,122 दस्तों ने जिले भर के 2 लाख 14 हजार 211 घरों को भेंट देकर 9 लाख 38 हजार 271 लोगों की जांच की़ इसमें 3,280 रुग्ण संदिग्ध पाए गए. तो प्रत्यक्षता में 30 रुग्ण पाए गए इनमें 20 को सांसर्गिक तो 10 को असांसर्गिक मरीजो का समावेश है. जिससे अभी कुष्ठरोग प्रभावित व उपचार शुरू रहने वाले मरीजों की संख्या 100 से अधिक हो गई है. आरोग्य सेवा सहायक संचालक डा. दीपक सेलोकार, जिला स्वास्थ्य केंद्रीय टीम के डा. अश्विनी कुमार हाके के नेतृत्व में अवैद्यकीय पर्यवेक्षक एन एन बढ़े, ए एस लोणारे, अवैद्यकीय सहायक जे आर ठाकरे आदि ने खोज मुहिम में भाग लिया.