File Photo
File Photo

वाशिम. शहर के व्यापारियों के साथ ही नागरिकों से मारपीट कर फिरौती वसूल करना, अपहरण, शस्त्र पास में रखना व नागरिकों को जान से मारने की धमकी देना आदि के साथ विविध मामलों में लिप्त आरोपी संतोष ठोके व

वाशिम. शहर के व्यापारियों के साथ ही नागरिकों से मारपीट कर फिरौती वसूल करना, अपहरण, शस्त्र पास में रखना व नागरिकों को जान से मारने की धमकी देना आदि के साथ विविध मामलों में लिप्त आरोपी संतोष ठोके व उसके चार सहयोगियों को पुलिस ने कब्जे में लेकर उनसे देशी कट्टा के साथ अन्य हथियार जब्त किए है.

जिला पुलिस अधीक्षक ने दी जानकारी
शहर में विगत कुछ दिनों से फिरौती प्रकरण बढ़ने से जिला पुलिस अधीक्षक पाटिल के मार्गदर्शन में स्थानीय अपराध शाखा ने यह कार्रवाई करने की जानकारी जिला पुलिस अधीक्षक पाटिल ने पत्र परिषद में दी है. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि, खंडणी प्रकरण समेत अन्य चार गंभीर मामले उजागर हुए है. उन्होंने बताया कि, शहर में विगत कुछ दिनों से शस्त्रों की नोंक पर नागरिकों से हफ्ता वसूली की जा रही थी. लेकिन शिकायत के लिए कोई सामने नहीं आने से इन अपराधियों के हौसले बुंलद हो गए थे.

हाल ही में स्थानीय शुक्रवार पेठ परिसर निवासी अतिशकुमार तायडे से 50,000 की मांग कर पिटाई करने की शिकायत तायडे ने पुलिस में दी. पुलिस ने संतोष ठोके व उनके सहयोगी के विरोध में भादवी की धारा 364 अ ,387,324,294,143,148,149, 504 ,506 उपधारा 3,25 आर्मएक्ट नुसार मामला दर्ज किया.

3 दस्ते किए गठित
पुलिस ने आरोपी की तलाश में तीन दस्ते का गठन कर तलाशना शुरू किया था़ स्थानीय अपराध शाखा को प्राप्त गोपनीय जानकारी के अनुसार शहर के नालंदा नगर से संतोष ठोके का कब्जे में लिया गया. पुलिस जांच दौरान इस मामले में लक्ष्मण ठोके, अजय वाघमारे, गिरिष माने, राजू वानखेडे, महेश उर्फ गोट्या तायडे शामिल होने की जानकारी मिलने से पुलिस ने अजय वाघमारे , लक्ष्मण ठोके को उसके निवास स्थान से तो गोट्या तायडे को साखली बाबा मार्ग से धर धबोचा.

माने व वानखेडे फरार
पुलिस कार्रवाई की भनक लगते ही गिरीष माने व राजू वानखेडे फरार हो गए़ गिरफ्तार आरोपियों के पास से कार क्रमांक एम एच 04 सीजे 2417 व बाइक एम एच 30 एस 9687, मोबाइल, देशी कट्टा, चार जिंदा कारतूस, तलवार आदि जब्त किए. इसी प्रकार से विगत आठ दिनों में पुलिस ने अन्य चार गंभीर मामला उजागर करके 8 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इस कार्रवाई में स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक शिवा ठाकरे , शहर थानेदार हरिष गवली, ग्रामीण पुलिस स्टेशन के थानेदार अजयकुमार वाढवे, कारंजा के थानेदार बोडखे , एपीआय वाघमोडे आदि के नेतृत्व में जांच दस्ते ने हिस्सा लिया.