33 करोड़ पौधारोपण योजना पर संकट

वाशिम. प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी जिले के अनेक भागों में पानी की समस्या निर्माण हुई है जिससे नागरिकों को पानी के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है़ ऐसी स्थिति में वनविभाग व सामाजिक वनीकरण विभाग

वाशिम. प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी जिले के अनेक भागों में पानी की समस्या निर्माण हुई है जिससे नागरिकों को पानी के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है़ ऐसी स्थिति में वनविभाग व सामाजिक वनीकरण विभाग के सामने रोपवाटिका के पौधों का संवर्धन के लिए बड़ी चुनौती निर्माण हो गई है़ आवश्यक पानी के अभाव से पौधों पर विपरीत असर होने पर 33 करोड़ पौधारोपण योजना पर संकट निर्माण होने की संभावना जताई जा रही है़

वाशिम जिले में कुल 134 जलप्रकल्प
वाशिम जिले में तीन मध्यम व 131 लघु जल प्रकल्प इस प्रकार से कुल 134 जलप्रकल्प है़ लेकिन इनमें के 87 लघु जलप्रकल्पों में मृत संग्रह शेष होकर अन्य प्रकल्पों का जलस्तर भी कम हो गया है़ जिससे अधिकतर गांवों में जलसमस्या निर्माण हो गई है. इसका असर रोपवाटिका के पौधों के संवर्धन पर भी हो रहा है़

पौधों के लिए अलग से टैंकर व्यवस्था
इस समस्या से निपटाने के लिए जिला प्रशासन ने वन विभाग व सामाजिक वनीकरण को अलग से एक टैन्कर देकर पौधों को पानी देने के आदेश दिए है़ं इसका लाभ भी हो रहा है़ लेकिन गर्मी के अंतिम दिनों में यदि पानी की कमतरता बढ़ गई तो रोपवाटिका के पौधों को जिंदा रखना कठिन हो जाएगा.

15 लाख पौधे बेहतर स्थिति में
वाशिम जिले में वन विभाग और सामाजिक वनीकरण के कब्जे में रहने वाले 40 से अधिक रोपवाटिका में 15 लाख से अधिक पौधे अभी बेहतर स्थिति में है. नए पौधों का निर्माणकार्य भी जोर-शोर से शुरू है़