33 करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण करें

वाशिम. तापमान वृध्दि के कारण पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है़ जिले में अत्यंत कम भूभाग वनव्याप्त रहा है़ जिले की अधिक से अधिक भूमि वृक्षों से आच्छादित करने के लिए प्रत्येक विभागों ने जिले के

वाशिम. तापमान वृध्दि के कारण पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है़ जिले में अत्यंत कम भूभाग वनव्याप्त रहा है़ जिले की अधिक से अधिक भूमि वृक्षों से आच्छादित करने के लिए प्रत्येक विभागों ने जिले के लिए अपना दायित्व जतन कर 33 करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण करने के निर्देश जिलाधिकारी ऋषीकेश मोडक ने दिए है़ं वे जिलाधिकारी कार्यालय के वाकाटक सभागृह में 33 करोड़ पौधारोपण कार्यक्रम अंर्तगत आयोजित पौधारोपण के पूर्वतैयारी बैठक में बोल रहे थे़

इस अवसर पर उप वनसंरक्षक सुमंत सोलंके, निवासी उपजिलाधिकारी शैलेश हिंगे प्रमुखता में उपस्थित थे़ जिलाधिकारी ने बताया कि, सभी विभागों को पौधारोपण का लक्ष्य देने से अभी कितने गढ्डे तैयार हुए है इस बाबत की जानकारी आनलाइन रूप से प्रस्तुत करे़ जिन विभागों को पौधारोपण का लक्ष्य दिया गया है़ उन्होंने पौधारोपण के लिए भूमि उपलब्ध नहीं हुई तो वनविभाग ने पहल कर भूमि उपलब्ध कराकर देना चाहिए़ ई क्लास भूमि पर भी पौधारोपण करे़ जो आंगनवाड़िया अधिक से अधिक पौधारोपण करेंगे उन अंगणवाडियों को महिला व बालविकास विभाग ने सन्मानित करे़ जिन विभाग को पौधारोपण का लक्ष्य कम दिया गया है़ उनको पौधारोपण का लक्ष्य बढ़ाकर देने का आदेश जिलाधिकारी ने दिया. 15 मई तक लक्ष्य के नुसार पौधारोपण के लिए गड्टे खुदाई की कार्यि पूर्ण करे़ ऐसे निर्देश भी जिलाधिकारी ने इस बैठक में दिया.

जिले के लिए 43 लाख 03 हजार का लक्ष्य
बैठक में सालुंके ने बताया की, वाशिम जिले के लिए 33 करोड़ पौधारोपण मुहिम अंर्तगत करीब 43 लाख 03 हजार वृ़क्ष रोपण का लक्ष्य दिया गया है़ यह लक्ष्य जिले के विविध शासकीय विभागों को विभाजीत कर दिया गया है़ संबधित विभागों ने पौधारोपण के लिए आवश्यक नियोजन कर 15 मई के पूर्व गड्ढे खुदाई की कार्रवाई पूर्ण करना चाहिए़ इस बाबत की जानकारी भी नियमित रूप से देना चाहिए़ जिला स्वास्थ अधिकारी डा़ आहेर, उपमुख्यकार्यकारी अधिकारी नितीन माहुर्ले, सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग के कार्यकारी अभियंता सुनिल कलमकर, जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी दत्तात्रय गावसाने,कृषि विकास अधिकारी शेलके ,समाजिक वनीकरण के विभागीय वन अधिकारी उत्तम फड,जलसंधारण के मापारी ,लघु सिंचन के कार्यकारी अधिकारी प्रशांत बोरसे, चौधरी, राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण के व्यवस्थापक अरविंद गंडी,विद्युत विभाग के टेभुर्णे, टोपले,जिला कारागृह के ठाकरे, सैनिक कल्याण विभाग के वाघमारे, महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के दिपक मोरे, उपशिक्षण अधिकारी गजानन डाबेराव, भूजल सर्वेक्षण व विकास यंत्रणा के एम ए देवगडे, जिला दुग्ध विकास अधिकारी दाभाडे, औद्योग्क प्रशिक्षण संस्था के देशपांडे समेत विविध विभाग के प्रमुख उपस्थित थे