जिले में क्षयरोग खोज मुहिम का प्रारंभ वाशिम जिले मे क्षयरोग खोज मुहिम का प्रारंभ 269

वाशिम. हाल ही में जिले में क्षयरोग खोज मुहिम प्रारंभ हुई. इस मुहिम के लिए जिले में 269 दस्ते कार्यान्वित किए गए है़ मुहिम कालावधि में 26,658 घरों में भेंट देकर क्षयमरीजों की खोज की जाएगी. जिला परिषद

वाशिम. हाल ही में जिले में क्षयरोग खोज मुहिम प्रारंभ हुई. इस मुहिम के लिए जिले में 269 दस्ते कार्यान्वित किए गए है़ मुहिम कालावधि में 26,658 घरों में भेंट देकर क्षयमरीजों की खोज की जाएगी. जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपककुमार मीणा के मार्गदर्शन में यह मुहिम चलाई जा रही है़ शहर के स्वास्थ्य केंद्र में सोमवार को जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़ अविनाश आहेर की प्रमुख उपस्थिति में इस मुहिम की शुरूवात की गई़

इलाज करने पर रोग अच्छा होता है
इस अवसर पर जिला क्षयरोग अधिकारी डा़ हाके, वैद्यकीय अधिकारी डा़ सुधाकर जिरोणकर, वैद्यकीय अधिकारी डा़ रुपाली मुंदडा, शहरी आरोग्य वर्धनी केंद्र के वैद्यकीय अधिकारी डा़ भगत आदि उपस्थित थे़ प्रत्यक्ष क्षयमरीजों की खोज मुहिम को नागरिकों ने सहकार्य कर क्षयरोग की जानकारी देना चाहिए़ क्षय मरीजों पर आवश्यक कालावधि में योग्य व नियमित उपचार करने पर यह रोग अच्छा हो जाता है़ जिस से क्षयरुग्णो ने नियमित पणा से उपचार लेना चाहिए़ आशा कार्यकर्ता व आरोग्य सेवक, सेविका ने प्रत्यक्ष क्षयरुग्ण खोज मुहिम दरम्यान सावधानीपूर्वक काम करने के आदेश भी उन्होंने दिए़.

इस मुहिम में क्षयरुग्ण का पंजीयन होने का प्रमाण बढ़कर क्षयरोग बाबत जनजागृति होने के लिए मदत होगी़ क्षयरोग का निदान होने के समय से ही अद्याप भी वंचित रहने वाले सभी क्षयरुग्णों की खोज कर उनको क्षयरोग औषधोपचार उपलब्ध कराने का इस मुहिम का उद्देश्य रखा गया है़ मुहिम कालावधि में जोखिम रहने वाले क्षेत्र में गृह् भेंट देकर क्षयरोग की लक्षण रहनेवाले व्यक्ति की खोज की जाएगी. ऐसे व्यक्ति की थूंक की जांच करना, एक्स रे व अन्य जांच कर क्षयरोग का निदान करना व औषधोपचार किया जाने का भी डा़ आहेर ने इस अवसर पर बताया़

-घर-घर जाकर करेंगे सर्वे
सुधारित राष्ट्रीय क्षयरोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंर्तगत के कर्मचारी , भागधारक, अशासकीय संस्था व उसी प्रकार से सार्वजनिक आरोग्य सेवा के कर्मचारी आदि के दस्ते नियुक्त कर निर्धारित किए गए भागों में घर-घर जाकर सर्वेक्षण करेंगे़ इस मुहिम दरम्यान झोपडपट्टी परिसर ,पंहुचने के लिए अड़चन में रहने वाले गांव,बस्तियां, कारागृह के कैदी, एचआयव्ही अतिजोखिम गुट, असंगठित कामगार, निर्माण कार्य स्थानों पर काम करने वाले कामगार, बेघर ऐसे चयनीज भागों में क्षयरोग के सर्वेक्षण किया जाएगा़ करीब 269 दस्तो का कार्यान्वित कर जिले के 26,658 घरों को भेंट देकर सर्वेक्षण किया जाएगा. ऐसी जानकारी डा हाके ने इस अवसर पर दी है़ कार्यक्रम का संचालन समाधान सोनोने ने किया. आभार डा़ जिरोणकर ने माना