पानी का अपव्यय टालें

वाशिम. इस वर्ष बढ़ते तापमान व उससे होनेवाले पानी का बाष्पीकरण के कारण शहर को जलापूर्ति करने वाले एक बुर्जी तालाब का जलस्तर तेजी से घटता जा रहा है़ इसे देखते हुए शहरवासियों ने अपनी आवश्यकतानुसार ही

वाशिम. इस वर्ष बढ़ते तापमान व उससे होनेवाले पानी का बाष्पीकरण के कारण शहर को जलापूर्ति करने वाले एक बुर्जी तालाब का जलस्तर तेजी से घटता जा रहा है़ इसे देखते हुए शहरवासियों ने अपनी आवश्यकतानुसार ही पानी का उपयोग करने का व पानी का अपव्यय टालने का आह्वान नगर अध्यक्ष अशोक हेडा ने किया है़ वे स्थानीय नए नगर परिषद के नगराअध्यक्ष के कक्ष में आयोजित पत्र परिषद में बोल रहे थे़ उन्होंने कहा कि, वाशिम शहर को जलापूर्ति करने वाले एकबुर्जी तालाब की पानी संग्रह की क्षमता 14 डीएलएम (द़ल़घ़मी़)है. अभी इस तालाब में 1.2 डीएलएम जलसंचय शेष है़

7 दिन में एक बार की जाएगी जलापूर्ति
यह जलसंचय व इसमें रहने वाला पानी का मृत जलसंचय शहरवासियों के लिए अगले ढाई महीने तक की पुराया जा सकता है़ इन दिनों शहरवासियों को 10 दिन में एक बार जलापूर्ति की जा रही थी़ लेकिन बढ़ती गर्मी को देखते हुए अब शहरवासियों के लिए प्रत्येक 7 दिन में एक बार जलपुर्तता की जाएगी़ उपलब्ध जलसंचय मे से आगे 5 बार याने 15 जुन तक शहरवासीयो के लिए जलापूर्ति हो सकेगी़ जिससे शहरवासियों के लिए अन्य गांवों की तुलना में पानी समस्या गंभीर नहीं होगी़ यदी बारिश के लिए देर भी हो जाती है़ तो मृतसंचय में से भी आसानी से जलापूर्ति की जा सकती है़ लेकिन शहर के नागरिकों ने पानी का अपव्यय नहीं करना चाहिए. अपनी आवश्यकता नुसार ही पानी का उपयोग करने का अनुरोध उन्होंने किया है़ उन्होंने कहा कि यदि कोई पानी का अपव्यय करते हुए पाया गया तो उस के खिलाफ नगर परिषद व्दारा कार्रवाई की जाएगी. पत्र परिषद में नप इंजीनियर अग्रवाल उपस्थित थे़