राष्ट्रीय लोक अदालत मे 53 लाख 41 हजार रुपयों का हुआ समझौता

वाशिम.राष्ट्रीय लोक अदालत के औचित्य से जिले के समझौता पात्र फौजदारी प्रकरणे, दिवाणी प्रकरणे व दुर्घटना प्रकरण आदि मिलाकर कुल 505 प्रकरण एक ही दिन में समझौता कर निपटाने में जिला व सत्र न्यायालय

वाशिम. राष्ट्रीय लोक अदालत के औचित्य से जिले के समझौता पात्र फौजदारी प्रकरणे, दिवाणी प्रकरणे व दुर्घटना प्रकरण आदि मिलाकर कुल 505 प्रकरण एक ही दिन में समझौता कर निपटाने में जिला व सत्र न्यायालय व जिला विधि प्राधिकरण तथा विधिज्ञ संघ को सफलता मिली है. जिले में नए से स्थापित हुए जिला विधि प्राधिकरण तथा विधिज्ञ संघ के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया था. वाशिम जिला मुख्यालय समेत जिले के वाशिम, कारंजा, मानोरा, मंगरुलपीर, मालेगांव, रिसोड आदि छह तहसीलों में लोक अदालत का आयोजन किया गया था.

वाशिम में इस राष्ट्रीय लोकअदालत का उद्घाटन जिल व सत्र न्यायाधीश तथा विधि सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष आऱ.बी.जटाले ने की.

विविध प्रकरणों का हुआ निपटारा
इसमें समझौता प्रकरण के पात्र 314 फौजदारी प्रकरणे, 7 दुर्घटना नुकसान भरपाई प्रकरणे , वैवाहिक प्रकरण व उसी प्रकार अन्य दिवाणी स्वरुप के 141 प्रकरणे इस प्रकार से कुल 505 प्रकरणों का एक ही दिन में फैसला देकर 53 लाख 41 हजार 733 रुपयों का समझौता किया. उदघाटन पर अध्यक्षीय संबोधन में प्रमुख जिला व सत्र न्यायाधीश आऱ. बी. जटाले ने पक्षकारों को समझौता बाबत का महत्व बताते हुए अधिक से अधिक प्रकरणे इस लोक अदालत के माध्यम से निपटाने का आवाहन किया.

इस अवसर पर जिला न्यायाधीश -1 के. के. गौर, जिला न्यायाधिश -2 एस़ बी़ पराते, तदर्थ जिला न्यायाधीश डोरले, दिवाणी न्यायाधीश वरिष्ठ स्तर तेहरा, सहदिवाणी न्यायाधीश शिंदे व अन्य न्यायाधीश वर्ग तथा विधिज्ञ मंडल के अध्यक्ष अजय बेरीया व अन्य पदधिकारी उपस्थित थे़ इस राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन के लिए वाशिम जिले के न्यायालयीन कर्मचारी, वकील,वित्तीय संस्था के अधिकारी कर्मचारी, न्यायाधीश वर्ग आदि ने परिश्रम किए़ राष्ट्रीय लोक अदालत सफल होने से प्राधिकरण के सचिव देशपांडे ने सभी का आभार व्यक्त किए.