वाशिम में दोबारा बुआई की नौबत

वाशिम. जिले में करीब 90 प्रतिशत खरीफ की बुआई पूर्ण हो चुकी है. किसानों को अब दमदार बारिश की प्रतिक्षा है. गत सप्ताह से जिले में बारिश नदारद होने से किसानों में चिंता की स्थिति निर्माण हो गई है.

वाशिम. जिले में करीब 90 प्रतिशत खरीफ की बुआई पूर्ण हो चुकी है. किसानों को अब दमदार बारिश की प्रतिक्षा है. गत सप्ताह से जिले में बारिश नदारद होने से किसानों में चिंता की स्थिति निर्माण हो गई है. कुछ दिनों तक बारिश नहीं हुई तो जिले के कुछ क्षेत्रों मे खरीफ की दोबारा बुआई की नौबत आ सकती है.

आर्थिक संकट में किसान

पहले ही आर्थिक संकट से जूझ रहे किसानों को और दोबारा बुआई का खर्च सहना पड़ा तो उनको आर्थिक संकट की दोहरी मार का सामना करना पड़ेगा. विगत एक सप्ताह से बारिश गायब होने से बुआई पर संकट छाया मंडरा रही है़ जमीन में नमी कम होने से फसले सूखने की कगार पर पहुंचने संभावना बतायी जा रही है़

3,31,94 हेक्टयर पर बुआई

वाशिम जिले में 4 लाख 709 हेक्टयर पर खरीफ बुआई अपेक्षित होते हुए इस वर्ष कृषि विभाग से प्राप्त 9 जुलाई के अहवाल के अनुसार जिले मे 3 लाख 31 हजार 94 हेक्टयर पर बुआई पूर्ण हुई है़ इनमें से कुछ बुआई हुए खेतों में बीज अंकुरित हो चुके हैं. लेकिन अब एक सप्ताह से बारिश के अभाव से जमीन की नमी कम हो रही है़ जिले में 2 लाख 44 हजार 657 हेक्टेयर क्षेत्रों पर सोयाबीन, 52 हजार 138 हेक्टयेर पर तुअर, 20 हजार 232 हेक्टेयर कपास, 7 हजार 246 हेक्टेयर पर उड़द, 5 हजार 455 हेक्टेयर पर मूंग आदि प्रमुख फसलों के साथ ज्वार, मका, सूर्यफूल, गन्ना व अन्य फसलों की भी कुछ प्रमाण में बुआई हुई है़ इस दौरान रिसोड तहसील के मांडवा परिसर में गत 15 दिनों से बारिश नदारद होने से सैकड़ों एकड़ में की बुआई पर विपरीत असर होने से उन पर दोबारा बुआई के संकट का सामना करने का समय आ रहा है़ अब आने वाले दिनों मे अच्छी दमदार बारिश की प्रतिक्षा किसानों के साथ नागरिक भी कर रहे हैं.