विधानसभा चुनावी दंगल- तेज हो रही नेताओं की धड़कनें

वाशिम.लोकसभा चुनाव के बाद सभी पार्टियों ने विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है. अब तक चुनाव के तारीख की घोषणा नहीं हो पायी है. पिछले बार हुए कारंजा-(लाड) विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के

वाशिम. लोकसभा चुनाव के बाद सभी पार्टियों ने विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है. अब तक चुनाव के तारीख की घोषणा नहीं हो पायी है. पिछले बार हुए कारंजा-(लाड) विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के राजेंद्र पाटणी ने सफलता हासिल की थी. इस बार भी वे भाजपा की टिकट पर चुनाव लढ़ने के इच्छुक है. वहीं अन्य नेता भी पार्टी की टिकट पाने के लिए प्रयासरत है. जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव समीप आ रही है़ राजनीतिक पार्टियों के नेताओं की धड़कनें तेज होती जा रही है. पाटणी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस सहित अन्य पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है.

सिंचाई, पानी को प्राथमिकता : पाटणी

कारंजा-मानोरा विधानसभा के भाजपा के विधायक राजेंद्र पाटणी ने बताया कि उनका अपने निर्वाचन क्षेत्र में तगड़ा जनसंपर्क है़ उन्होंने विभिन्न विकास कार्य किए हैं जिसका लाभ मुझे चुनाव में मिलेगा. इसी प्रकार से विगत वर्षों में उन्होंने सामाजिक, शैक्षणिक, राजनीतिक क्षेत्रों में अपने निर्वाचन क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम किया है़जिनमें सिंचन क्षेत्र, ऊर्जा, क्षेत्र , रास्ते, पानी की व्यवस्था, समाजिक सभागृह तथा अन्य लोगों, किसानों की समस्या हल करने का प्रयास किया है़ आने वाले सन 2019 के चुनाव में यदि वे फिर से चुनकर आते हैं तो सिंचाई क्षेत्र बढ़ाने के लिए योजना बनाना, पानी का नियोजन करना, बिजली, रस्ते ,रोजगार, शैक्षणिक विकास, मूर्तिजापुर-यवतमाल रेल लाइन के लिए प्राथमिकता से कार्य करने का मानस है़

बडनेरा-वाशिम रेलमार्ग निर्मिति को प्राथमिकता : डहाके

कारंजा (लाड) विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रकाश डहाके ने बताया कि कारंजा-मानोरा विधानसभा में आम जनता के कार्य करके उन्हें न्याय देने का प्रयास किया है़ इसी प्रकार से किसानों की समस्या के लिए उन्होंने आवाज उठाकर संघर्ष किया है. विगत 25 वर्षों से आम कार्यकर्ता व सामान्य लोगों से जुड़ा हूं. उन्होंने विगत 25 वर्षों से सामाजिक व राजनीतिक के अनेक कार्य किए है़ जिससे लोगों के काम करना ही उनकी पहचान बन गई है़

पर्यटन क्षेत्र का दर्जा दिलाएंगे : अब्दुल

कांग्रेस की टिकट पर लड़ने के इच्छुक अब्दुल राजिक अब्दुल आजिम ने बताया कि अभी तक सभी जाति, धर्म के लोगों की समस्या हल की है़ क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय को प्रतिनिधित्व का मौका नहीं मिला है़ मुझे कांग्रेस से उम्मीदवारी मिलने का विश्वास है़ लोगों की बुनियादी समस्या तथा क्षेत्र के विकास के लिए प्रयास किया है़ कारंजा में सबसे पहले एमआयडीसी लाकर उसमें उद्योग शुरू करने व बेरोजगारी दूर करने का प्रयास करूंगा.

रोजगार व स्वास्थ्य सेवा का प्रयास : एड. जिंतुरकर

एड. संदेश माणिकचंद जिंतुरकर ने कि वे कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लढ़ने के इच्छुक है. उन्होंने बताया कि सभी समाज के लोगों को लेकर एकता को बढ़ावा दिया़ क्षेत्र के विकास होने की भावना के साथ युवाओं का प्रतिनिधित्व किया़ उन्होंने विगत वर्षों में अनेक विविध सामाजिक कार्य, शैक्षणिक कार्य तथा राजनीतिक कार्य किए हैं. उन्होंने बताया कि यदि आने वाले सन 2019 के चुनाव में वे चुनकर आते हैं तो वे कारंजा में एमआयडीसी लाकर उद्योग शुरू करने के लिए योजना बनाएंगे व इस योजना को अमल में लाकर क्षेत्र की बेरोजगारी दूर करेंगे़ स्वास्थ सेवा को प्राथमिकता देकर शहर में एक बड़ा अस्पताल निर्माण करेंगे. सभी सरकारी कार्यालयों को एक ही इमारत में लाने का प्रयास करुंगा़

पोहरादेवी-उमरी तीर्थक्षेत्र के विकास को प्राथमिकता : जाधव

मानोरा तहसील के उमरी खु़ निवासी राष्ट्रवादी कांग्रेस से इच्छुक उम्मीदवार डा़ शामकुमार विजय जाधव (नाईक) ने बताया कि, इस निर्वाचन क्षेत्र में एक राजनीतिक, समाजिक पार्श्वभूमि होकर वसंतराव नाइक के विचारों से प्रेरित होकर पिछले 70 वर्षों से उनके परिवारों की ओर से सामाजिक, शैक्षणिक क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है़ इसी को सामने रखते हुए उन्होंने यह कार्य शुरू रखे हुए हैं. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षण, बुनियादी सुविधाए उपलब्ध कराने के लिए प्राथमिकता रहेगी़ पोहरादेवी व उमरी तीर्थक्षेत्र का विकास का एजेंटा रहेगा़ किसानों के कृषि फसलों के लिए सब्जी मंडी ,फसलों के लिए मार्केट उपलब्ध कराने के लिए प्रयास करुंगा़

पानी, बिजली व्यवस्था पर जोर : इंगोले

निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लढ़ने के इच्छुक कारंजा तहसील के वापटी कुपटी ग्राम निवासी बंडूभाऊ बलीराम इंगोले ने बताया कि वे क्षेत्र का सर्वांगीण विकास करेंगे. पानी व बिजली व्यवस्ता पर जोर देंगे. उन्होंने खेती, किसानों की समस्या, युवाओं की बेरोजगारी, बढ़ती महंगाई आदि मुद्दों को लेकर वर्तमान जनप्रतिनिधि की असफलता पर प्रकाश डालने का प्रयास किया़ वे इन समस्याओं हल करने के लिए सतत संघर्ष करते रहे़.