शिरपुर में घंटागाड़ियां बढ़ाने की मांग

शिरपुर जैन (सं). शिरपुर करीब 20 से 25 हजार जनसंख्या वाला गांव है. जिसमें ग्राम पंचायत की ओर से घन कचरा एकत्रित करने के लिए ग्राम पंचायत की ओर से घंटा गाड़ी उपलब्ध की गयी है. पहले जब यह घंटा गाड़ी

शिरपुर जैन (सं). शिरपुर करीब 20 से 25 हजार जनसंख्या वाला गांव है. जिसमें ग्राम पंचायत की ओर से घन कचरा एकत्रित करने के लिए ग्राम पंचायत की ओर से घंटा गाड़ी उपलब्ध की गयी है. पहले जब यह घंटा गाड़ी उपलब्ध नहीं थी, तब बड़े प्रमाण में खुले में कचरा दिखाई देता था. जिससे शहर में स्थित कचरे का नियोजन करने की दृष्टि से ग्राम पंचायत की पहल पर घंटा गाड़ी शुरु की गयी. लेकिन गांव की जनसंख्या तथा कूड़े के प्रमाण को देखते हुए यह एक घंटा गाड़ी अब कम पड़ रही है. जिससे नागरिकों द्वारा घंटा गाड़ियां बढ़ाने की मांग की जा रही है.

– कई दिनों तक रखना पड़ता है कचरा

शिरपुर में विविध जाती और धर्मों के लोग बड़े प्रमाण में हैं. जिससे बड़े प्रमाण में घरों, होटलों तथा अन्य प्रतिष्ठानों से काफी प्रमाण में प्रतिदिन कूड़ा निकलता है. जिससे ग्राम पंचायत की ओर से निधि उपलब्ध करा कर घंटा गाड़ी की व्यवस्था की गयी. लेकिन गांव बड़ा होने से यह एक घंटा गाड़ी गांव के सभी वार्डों में प्रतिदिन उपलब्ध कराना मुश्किल है. समय पर घंटा गाड़ी नहीं पहुंचने से नागरिकों को यह कूड़ा कई दिनों तक संभालकर रखना पड़ता है. जिससे नागरिकों द्वारा घंटा गाड़ी उपलब्ध करानी की मांग की है. इस संदर्भ में गांव की सरपंच सुनिता अंभोरे ने कहा कि ग्रामवासियों द्वारा अपने घरों का टैक्स समय पर जमा नहीं किया जाता है. जिससे गांव की कई समस्याएं हल नहीं हो पा रही है, इसी तरह गांव के विकास कार्य रुके पड़े हैं. जिससे विकास कार्यों को गति देने के लिए नागरिकों ने टैक्स का भुगतान समय समय पर करें. गांववासियों द्वारा सहयोग प्राप्त होते ही घंटागाड़ी उपलब्ध की जाएगी यह आश्वासन भी अभोरे ने दिया.