बलीराजा जलसंजीवनी योजना अंर्तगत सिंचाई प्रकल्प पूर्ण करने 534 करोड़ मंजूर

वाशिम. विदर्भ - मराठवाडा के आत्महत्याग्रस्त व सूखाग्रस्त जिले के सिंचाई प्रकल्प पूर्ण करने के लिए केंद्र शासन से विशेष पैकेज के रूप में वाशिम जिले के 18 जलप्रकल्पों के लिए 534.19 करोड़ रुपये निधि

वाशिम. विदर्भ – मराठवाडा के आत्महत्याग्रस्त व सूखाग्रस्त जिले के सिंचाई प्रकल्प पूर्ण करने के लिए केंद्र शासन से विशेष पैकेज के रूप में वाशिम जिले के 18 जलप्रकल्पों के लिए 534.19 करोड़ रुपये निधि मंजूर की है. इससे वाशिम जिले के करीब 10,902 हेक्टयर भूमि की सिंचाई हो सकेगी. यह पैसे बलीराजा जलसंजीवनी योजना के लघु प्रकल्प के अंर्तगत दिए गए है.

विदर्भ – मराठवाडा के आत्महत्या ग्रस्त जिले के व शेष महाराष्ट्र के सूखाग्रस्त जिले के सिंचाई प्रकल्प पूर्ण करने के लिए केंद्र शासन से विशेष पैकेज की मांग को लेकर राज्य शासन को प्रस्ताव भेजा था. इसके अनुसार केद्रीय मंत्रिमंडल ने नई दिल्ली में हुई एक बैठक में वाशिम के 18 प्रकल्पों के लिए करीब 534.19 करोड़ रुपयों की निधि घोषित की. राज्य शासन के आत्महत्याग्रस्त व सूखाग्रस्त जिले से 83 लघु सिंचाई व 8 मध्यम कुल 91 प्रकल्पों के लिए, शासन की आर्थिक सहायता 25 प्रतिशत मान्यता प्रस्ताव, केंद्र शासन को प्रस्तुत किया गया था.

बैठक में लिया फैसला
इन प्रस्तावों की 1 अप्रैल 2017 को शेष मूल्य 15,325 करोड़ होकर इन शेष मूल्य के 25 प्रश याने 38.31 करोड़ रु. केंद्रीय अर्थसहाय्य देने के लिए केंद्र सरकार ने इस बैठक में मान्यता दी है. 91 प्रकल्पों का काम पूर्ण होने पर विदर्भ मराठवाडा के आत्महत्याग्रस्त जिले के उर्वरित व महाराष्ट्र के सूखाग्रस्त जिले के अतिरिक्त 37,69,115 हे. सिंचाई क्षमता निर्माण होगी.

विधायक पाटणी ने दी जानकारी
इन प्रकल्पों के लिए राज्य के हिस्से की 75 प्रश राशि नाबार्ड अथवा एडीबी बैंक के माध्यम से प्राप्ति के लिए राज्य शासन प्रयाशशील रहेगा़ इस योजना ने मूल प्रस्तावों की 112 प्रकल्पों में से शेष 21 बड़े प्रकल्पों को केंद्रीय अर्थसहाय्य प्राप्त होने के लिए केंद्रीय जलआयोग तांत्रिक सलाहागार समिति की मान्यता लेने की कार्यवाही शुरू होने की जानकारी विधायक राजेंद्र पाटणी ने दी है.