उड़द फसल के दामों में गिरावट : 2,000 तक गिरे भाव

वाशिम. जिले में उड़द फसल के लिए प्रतिक्विटिंल 9 हजार का भाव दिया जा रहा था़ फिलहाल इसके दाम में दो हजार रुपए से अधिक की गिरावट आ गई है़ जिले में इस वर्ष खरीफ मौसम में मानसून की बारिश देरी से हुई जिस

वाशिम. जिले में उड़द फसल के लिए प्रतिक्विटिंल 9 हजार का भाव दिया जा रहा था़ फिलहाल इसके दाम में दो हजार रुपए से अधिक की गिरावट आ गई है़ जिले में इस वर्ष खरीफ मौसम में मानसून की बारिश देरी से हुई जिस कारण उड़द, मूंग का बुआई क्षेत्र कम हो गया था़ इस पर बेमौसम बारिश के कारण इन फसलों को बड़े प्रमाण में क्षति पहुंची थी़ जिससे उत्पादन में भारी कमी आई. अनेक किसानों ने उडद फसल पर किया हुआ खर्च भी निकलना संभव नहीं होने से उड़द नहीं निकालते हुए खेत में मवेशियों को छोड़ दिया.

-किसानों में निराशा

इस में शासन ने मूंग को 7,050 रुपये प्रतिक्विंटिल तो उड़द को 5,700 रु. का समर्थन मूल्य घोषित किए़ जिससे किसानों में निराशाजनक स्थिति निर्माण हुई़ दरम्यान इस फसल की बाजार में खरीदी शुरू होने के बाद शुरूवात में शासन के समर्थन मूल्य से कम दर मिल रहे थे़ लेकिन बाद में इन दोनों फसलों के दर धीरे- धीरे बढ़ते गए़ व समर्थन मूल्य से अधिक दरों पर खरीदी शुरु हुई़

– 9,000 तक पहुंचे थे दाम

10 दिनों के पूर्व उड़द के भाव यहां पर 9,000 रुपये प्रतिक्विंटिल तक पंहुच गए थे़ ये दर शासन के समर्थन मूल्यों से करीब 2,300 रुपये अधिक थे़ मूंग के दर भी 7,200 तक पहुंचे थे़ लेकिन अब फिर इन फसलों की दरों में गिरावट आ गई़ गत चार, पांच दिनों में उडद के दर बाजार में दो हजार रुपये गिरे. अभी 6,700 रुपये तक आ गए़ लेकिन फिर भी शासन के समर्थन मूल्य से अधिक दरों पर ही खरीदी हो रही है़