जिला मलेरिया कार्यालय पर धरना

वाशिम. राष्ट्रीय कीटकजन्य रोग नियंत्रण कार्यक्रम का हस्तांतरण जिला परिषद की ओर करने के शासन निर्णय का विरोध करते हुए कर्मचारियों ने जिला मलेरीया कार्यालय में धरना आंदोलन किया़. राष्ट्रीय कीटकजन्य

वाशिम. राष्ट्रीय कीटकजन्य रोग नियंत्रण कार्यक्रम का हस्तांतरण जिला परिषद की ओर करने के शासन निर्णय का विरोध करते हुए कर्मचारियों ने जिला मलेरीया कार्यालय में धरना आंदोलन किया़.

राष्ट्रीय कीटकजन्य रोग नियंत्रण कार्यक्रम पिछले 60 वर्षों से स्वंतत्र रूप से शुरु है़ यह योजना केंद्र सरकार पुरस्कृत है़ जनता को अच्छा स्वास्थ प्रदान करने के लिए राज्य के सहयोग से कीटकजन्य रोग नियंत्रण कार्यक्रम चलाया जा रहा है़ राज्य में राष्ट्रपति शासन रहते समय राज्य के सार्वजनिक स्वास्थ विभाग ने 22 नवंबर को मलेरिया कर्मचारियों के विरोध में निर्णय लेने का आरोप लगाया है. जिला मलेरिया कार्यालय अथवा क्षेत्रीय कार्यालय से न्यायालयीन प्रकरणों को बढ़ते देखकर अधिकारी व कर्मचारियों के सेवा विषयक अधिकार जिला परिषद की ओर हस्तातंरित करने का निर्णय लिया गया.

इसका निषेध कर महाराष्ट्र राज्य मलेरिया निर्मूलन कर्मचारी संगठन शाखा वाशिम व महाराष्ट्र राज्य प्रयोग शाला वैज्ञानिक अधिकारी मध्यवर्ती संगठन शाखा वाशिम की ओर से धरना आंदोलन किया गया़ यह अन्यायकारक परिपत्रक रद्द करके यह यंत्रणा स्वंतत्र रखने की मांग महाराष्ट्र राज्य मलेरिया निर्मूलन कर्मचारी संगठन की वाशिम शाखा के अध्यक्ष विष्णु चोरमले, सहसचिव बी.एस़. गोटे, प्रयोगशाला वैज्ञानिक आधिकारी जी़ बी़ राठोड, पी़ के़ चव्हाण, खड़से सहित अन्य पदाधिकारी, कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे़

——