नियमित कर्ज भरने वाले सदस्यों को दी जाए कर्जमाफी

वाशिम. महाविकास आघाडी सरकार के नागपुर अधिवेशन में मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने महात्मा फुले कर्ज मुक्ति योजना की घोषणा कर किसानों को दो लाख रुपयों का बकाया कर्ज माफ किया है़ लेकिन इसमें नियमित रुप से

वाशिम. महाविकास आघाडी सरकार के नागपुर अधिवेशन में मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने महात्मा फुले कर्ज मुक्ति योजना की घोषणा कर किसानों को दो लाख रुपयों का बकाया कर्ज माफ किया है़ लेकिन इसमें नियमित रुप से कर्ज भरने वाले किसानों के लिए कोई योजना घोषित नहीं होने से नियमित रूप से कर्ज भरने वाले किसानों में निराशा जनक स्थिति निर्माण हो गई़ जिससे सेवा सहकारी संस्था के नियमित कर्ज भरने वाले सभासदों को भी कर्जमाफी का लाभ देने की मांग कारंजा तहसील के सेवा सहकारी संस्था के पदाधिकारियों के साथ किसानों ने तहसीलदार को सौंपे एक निवेदन व्दारा की है़

3,884 सदस्य विविध संस्थाओं के नियमित कर्जदार
निवेदन के अनुसार कारंजा तहसील में 62 सेवा सहकारी संस्था होकर इनमें से 3,884 सदस्य विविध संस्थाओं के नियमित कर्जदार है़ सरकार की घोषित किए महात्मा फुले कर्जमुक्ति योजना से बकाया कर्जदारों के 2 लाख रुपयों का कर्ज माफ होने वाला है़

कर्ज का बोझा बढ़े नहीं इसलिए कारंजा तहसील के अनेक किसानों ने नियमित कर्ज की राशि भर दी है़ लेकिन नियमित सदस्यों को सन 2017 के कर्जमाफी का लाभ नहीं मिल सका़ इसी प्रकार से इस वर्ष के कर्जमाफी योजना में उनका समावेश नहीं है़ इसलिए सेवा सहकारी के नियमित कर्ज भरने वाले किसानों को भी कर्जमाफी का लाभ देने की मांग की गई है़ निवेदन देते समय अकोला जिला मध्यवर्ती बैंक के संचालक श्रीधर पाटिल कानकिरड, देखरेख संघ के संचालक बाबाराव पोले, खरेदी विक्री संघ के पूर्व अध्यक्ष बाबाराव ठाकरे, नीलु गजभिये, जगदेव पाटिल, विजय गागरे के साथ बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे़