जलयुक्त शिवर निधि रुकी तो 336 कार्य होंगे प्रभावित

वाशिम. जिले में सन 2018-19 में कुल 252 गांवों में प्रशासकीय मान्यता प्राप्त, जलयुक्त शिवर के कुल 2,586 कार्यों में से 2,250 काम पूरे हुए. बचे हुए 336 काम प्रलंबित रहे है़ं इसमें शेष रहने वाले 6

वाशिम. जिले में सन 2018-19 में कुल 252 गांवों में प्रशासकीय मान्यता प्राप्त, जलयुक्त शिवर के कुल 2,586 कार्यों में से 2,250 काम पूरे हुए. बचे हुए 336 काम प्रलंबित रहे है़ं इसमें शेष रहने वाले 6 करोड़ रुपयों की निधि से यह कार्य पूर्ण करने के लिए कृषि विभाग ने मुख्य सचिव की अनुमति मांगी है़ लेकिन अभी तक यह अनुमति नहीं मिलने से संबंधित 6 करोड़ रुपयों की निधि को शासन स्तर पर रोक लगा दी गई है़ राज्य के कुछ भागों में जलयुक्त शिवार योजना की निधि को शासन स्तरों पर ब्रेक लगाए जाने की चर्चा है़.

सन 2018-19 में जिले के वाशिम तहसील में 412, रिसोड में 405, मालेगांव में 570, मंगरुलपीर में 408, मानोरा में 130, कारंजा तहसील में 325 इस तरह कुल 2,250 कार्य पूर्ण हुए है़ इन कामों पर 25 करोड़ से अधिक निधि का खर्च हुआ है. अब तब 6 करोड़ रुपये की निधि शेष है. इस शेष राशि से बची हुई 336 कामों को पूर्ण किया जा सकता है़ लेकिन नये वर्ष में मुख्य सचिव से अभी तक अनुमति नहीं प्राप्त होने से यह कार्य प्रभावित होने की संभावना हो रही है.