नागरिकत्व कानून के समर्थन में भव्य हुंकार रैली निकली

वाशिम. नागरिकत्व सुधारणा विधेयक अधिनियम नागरिकों का नागरिकत्व छीनने के लिए न होकर जिनको देश में नागरिकत्व नहीं है उनको नागरिकत्व देने के लिए है़ इस संदर्भ में हो रहे अपप्रचार व अफवाओं पर वश्विास न

वाशिम. नागरिकत्व सुधारणा विधेयक अधिनियम नागरिकों का नागरिकत्व छीनने के लिए न होकर जिनको देश में नागरिकत्व नहीं है उनको नागरिकत्व देने के लिए है़ इस संदर्भ में हो रहे अपप्रचार व अफवाओं पर वश्विास न रखें. इस कानून के समर्थन में राष्ट्रीय सुरक्षा मंच की ओर से शनिवार 11 जनवरी को निकाली गई हुंकार रैली में हजारों की संख्या में नागरिकों ने स्वयं होकर रैली में शामिल हुए. हुंकार रैली छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा से पाटणी चौक, डा. बाबासाहब आम्बेडकर चौक से जिलाधिकारी कार्यालय पर पंहुची़

-1,000 मीटर का तिरंगा रहा विशेष आकर्षण
रैली में 1 हजार मीटर का तिरंगा ध्वज की प्रेरणा से नागरिकों को राष्ट्र विषयी प्रेरणा दी गई. सीएए कानून के विषय में गलत फहमियां दूर करना, अधिनियम का स्वरुप समाज के सामने लाना, कानून की जनजागृति होना यह रैली का मुख्य उद्देश्य था. यह विधेयक किसी भी समाज के विरोध में न होकर इस कानून से नागरिकत्व प्रदान करने वाला है़ इस कानून से नागरिकत्व निकाले जाने का अपप्रचार कुछ लोग अज्ञान के कारण कर रहे है़ जिस से देश में अशांतता का वातावरण निर्माण हो रहा है़ यह कानून किस प्रकार से देशहित का है यह अवगत कराना महत्वपूर्ण है़ इसलिए राष्ट्रीय सुरक्षा मंच द्वारा आयोजित इस हुंकार रैली का आयोजन किया गया था़ इस रैली में स्वयं होकर सैकडों सामाजिक संगठन शामिल हुए़ इस दौरान व्यापारियों ने अपने प्रतष्ठिान स्वयं होकर बंद रखे थे. रैली में महिलाओं के साथ युवक भी बड़ी संख्या में शामिल थे.

रैली जिलाधिकारी कार्यालय पंहुचने पर रैली का सभा में परिवर्तन हुआ़ भाजयुमो के प्रदेश उपाध्यक्ष राजु पाटिल राजे, विधायक राजेंद्र पाटणी, एड. विजय जाधव, प्रा. दिलीप जोशी के साथ अनेक मान्यवर उपस्थित होकर सभा को संबोधित किया़