मालेगांव-रिसोड मार्ग का अधूरा काम शीघ्र पूर्ण करें

शिरपुर जैन. मालेगांव-रिसोड मार्ग के ग्राम पांगरखेडा सड़क का डामरीकरण का कार्य मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना से पूर्ण हुआ है लेकिन इसका किनारा (कडा) अभी भी अधूरी स्थिति में नजर आ रहा है़ ग्राम व

शिरपुर जैन. मालेगांव-रिसोड मार्ग के ग्राम पांगरखेडा सड़क का डामरीकरण का कार्य मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना से पूर्ण हुआ है लेकिन इसका किनारा (कडा) अभी भी अधूरी स्थिति में नजर आ रहा है़ ग्राम व ग्रामीण भागों के सड़कों के विकास होने के लिए जिले की विविध सड़कों का काम मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत शुरू है़ इसमें शिरपुर जैन से मालेगांव, रिसोड मार्ग को जोड़ने वाले ढाई किलोमीटर के ग्राम पांगरखेडा मार्ग का समावेश है़ इसके लिए मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 95.56 लाख रुपयों के सड़क विकास के काम किए गए.

इस काम में ढाई किलोमीटर के मार्ग का डामरीकरण किया गया़ इस कार्य के अंतर्गत डामरीकरण होने के बाद सड़कों की किनार ग्राम सड़क योजना से पूर्ण हुआ है लेकिन इस सड़क की किनारा (कडा) भरना आवश्यक था़ सड़क की किनार अब तक पूरी तरह भरी नहीं गई है.

कार्यस्थल पर लगाए गए बोर्ड के अनुसार 7 दिसंबर 2019 को इस सड़क का पूरा कार्य होना चाहिए था, लेकिन इन कार्य में अब तक सड़क के किनारे पर मुरुम डाल कर किनार को नही भरा गया है. मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत ढाई किलोमीटर मार्ग का डामरीकरण किया गया. डामरीकरण के बाद सड़क किनारे पर मुरुम डालकर उसे भरना आवश्यक था़ सड़क किनार मुरुम डालकर नहीं भरे जाने से वाहन धारकों के लिए विशेषता दुपहिया सवारों के लिए खतरे की आशंका निर्मित होने की संभावना पूर्व उपसरंपच किशोर गांवडे ने व्यक्त की है.

इस संदर्भ में संबंधित अभियंता राजुरकर ने बताया कि, सड़क का डामरीकरण हुआ है लेकिन सड़कों की किनारों पर मुरुम भरने के बाद ही यह काम पूरा होगा तथा यह कार्य तेज गति से किया जाएगा.