जिले में कई विकास कार्य अटके

वाशिम. जिला निर्मिती के 19 साल बाद भी जिला विकास की वाट जोह रहा है. यहां सिंचाई, पेयजल, एमआईडीसी, रोजगार उच्च शिक्षा, सहकार क्षेत्र, विद्यापीठ का उपकेंद्र, जिला मध्यवर्ती स्वतंत्र बैक, एक बुर्जी

वाशिम. जिला निर्मिती के 19 साल बाद भी जिला विकास की वाट जोह रहा है. यहां सिंचाई, पेयजल, एमआईडीसी, रोजगार उच्च शिक्षा, सहकार क्षेत्र, विद्यापीठ का उपकेंद्र, जिला मध्यवर्ती स्वतंत्र बैक, एक बुर्जी तालाब की उंचाई का मामला, सिग्नल व्यवस्था तथा अन्य समस्या जस की तस बनी हुई है. 1 जुलाई 1998 में अकोला जिले का विभाजन कर वाशिम जिला बनाया गया़ सरकार ने जलसमस्या को देखते हुए 5 करोड़ की निधी उपलब्ध कराई. इससे समीपस्त कोकलगांव के बैरेजे से एक बुर्जी तक लाए पाइप लाइन बिछाकर पानी की समस्या हल करने की कोशिश की गई जो असफल रही.

एक बुर्जी तालाब की उंचाई का मामला अटका
शहर को जलपूर्ति करने वाले एक बुर्जी तालाब की उंचाई का मामला अभी तक अधर में लटका हुआ है़ इसी प्रकार से जिले में अमरावती विद्यापीठ का उपकेंद्र का मसला भी हल नहीं हो पा रहा है़ वाशिम में एमआयडीसी क्षेत्र के लिए भूसंपादन को करीब 29 वर्ष पूर्ण हो गए है़ लेकिन यहां पर केवल महाराष्ट्र औद्योगिक महामंडल के बोर्ड के अलावा वाशिम में 7 लघु उद्योग, मालेगांव में 2, मंगरुलपीर व मानोरा प्रत्येक एक लघु उद्योग शुरू हो सके़ राज्य सरकार व जनप्रतिनिधियों की उदासीन है. वाशिम -हिंगोली मार्ग पर 29 वर्ष पूर्व तत्कालीन सांसद गुलामनबी आजाद के समय 219 हेक्टर भूमि आरक्षित की गई थी. तत्कालीन उद्योग मंत्री रामराव आदिक व सांसद गुलामनबी आजाद की उपस्थिति में आरक्षित इस भूमि को राज्य सरकार व्दारा ग्रोथ सेंटर के रुप में मान्यता दी गयी, लेकीन करीब 29 वर्ष का समय गुजर जाने के बाद भी महाराष्ट्र औद्योगिक विकस महामंडल के बोर्ड के अलावा कुछ नजर नहीं आता.

जिले में उच्च शिक्षा का अभाव
जिले में उच्च शिक्षा का अभाव है. यहां एमबीबीएस, इंजीनियरिंग जैसे शासकीय कालेज शुरू करने की आवश्यकता है़ उच्च शिक्षा के लिए हजारों छात्रों को बाहर गांव जाना पड़ता है. जिले में शासकीय महिला चिकित्सालय अभी शुरू नहीं हो पाया है़ जिले में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने वाले सूतगिरणी, शक्कर कारखाने, खाद कारखाना शुरू करने के लिए क्षेत्र के विधायकों ने प्रयास करना चाहिए़ शहर में रोड पर सिग्नल नहीं लगने से यातायात सदैव लड़खड़ाया रहता है. अकोला जिला मध्यवर्ती बैंक से ही कार्य चल रहा है़ जिले के वाशिम, कारंजा व रिसोड विधानसभा निर्वाचन संघ होकर रिसोड में कांग्रेस के विधायक अमित झनक , वाशिम में भाजपा के लखन मलिक व कारंजा में भाजपा के राजेंद्र पाटणी विधायक है़ जिले के विकास हेतु जिले मे उपरोक्त सभी बाजुओं पर विधान मंडल अधिवेशन में पहल कर जिले के लटके हुए कार्यों को शुरु करने की प्रयास होना चाहिए़