केंद्रीय टीम करेगी स्वच्छता सर्वेक्षण

वाशिम. स्वच्छ भारत मिशन अंर्तगत रिसोड, मालेगांव , मंगरुलपीर तहसील के चार गांवों में केंद्रीय टीम ने भेंट देकर स्वच्छ सर्वेक्षण -2018 की शुरूवात की. भारत सरकार के पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय की ओर से

वाशिम. स्वच्छ भारत मिशन अंर्तगत रिसोड, मालेगांव , मंगरुलपीर तहसील के चार गांवों में केंद्रीय टीम ने भेंट देकर स्वच्छ सर्वेक्षण -2018 की शुरूवात की. भारत सरकार के पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय की ओर से देश के सभी जिले में स्वच्छता बाबत मूल्यांकन करने के लिए गुणात्मक व संख्यात्मक के आधार पर देशव्यापी सर्वेक्षण कार्यक्रम 31 अगस्त तक चलाया जा रहा है. यह सर्वेक्षण स्वच्छता संदर्भ के घटकों बाबत किया जा रहा है. इसके लिए मूल्यांकन पध्दति केंद्र शासन से निश्चित की है. इस सर्वेक्षण में सार्वजनिक स्थानों पर स्वच्छता बाबत घटकों का समावेश किया जाएगा.

8 गांवों का करेंगे निरीक्षण
सबसे अधिक गुण प्राप्त करने वाले जिले को राष्ट्रीय स्तरों पर 2 अक्टूबर को पुरस्कार दिया जाएगा. केंद्रीय टीम ने वाशिम जिले में गुरुवार से स्वच्छ सर्वेक्षण का काम शुरू किया. केंद्रीय टीम कुल 8 गांवों का निरीक्षण करेंगे़ मंगरुलपीर तहसील के शिवणी रोड व इस्लामपुर व उसी प्रकार से मालेगांव तहसील के ब्राम्हणवाडा बु़ और रिसोड तहसील के येवता इस प्रकार से चार गांवों का निरीक्षण किया गया़ शाला, आंगनवाड़ी, धार्मिक स्थान, ग्रामपंचायत, बाजार व सार्वजनिक स्थान, स्वास्थ केंद्र व उपकेंद्र आदि जगह पर निरीक्षण किया गया.

शौचालय के बारे में ली जानकारी
शाला में कुल पट कितने, शौचालयों का छायाचित्र, मुख्याध्यापकों की मुलाकात उसी प्रकार से आंगनवाडी केंद्र में स्वच्छता का जायजा लिया गया. इसके बाद कार्यकर्ताओं से चर्चा कर स्वच्छ सर्वेक्षण, तालुकास्तरीय कार्यशाला, गांवस्तरीय कार्यशाला आदि की जानकारी ली गई. धार्मिक स्थानों पर शौचालय की व्यवस्था है अथवा नहीं इसका जायजा लिया गया़ स्वास्थ केंद्र व उपकेंद्र परिसर में शौचालय व्यवस्था परिसर स्वच्छता देखकर संबंधितों से चर्चा की गई.