चीनी व आँनलाईन सामान खरेदी का मोह टालकर

वाशिम. विदेशी चीनी सामान खरेदी का मोह टालकर स्वदेशी सामान को पुरस्कृत करे.व साथ ही मे आँनलाईन खरेदी मे बडे प्रमाण मे धोकाधडी से बचने के लिए नागरिको ने चीनी व आँनलाईन सामान खरेदी से दुर रहने का

वाशिम. विदेशी चीनी सामान खरेदी का मोह टालकर स्वदेशी सामान को  पुरस्कृत करे.व साथ ही मे आँनलाईन खरेदी मे बडे प्रमाण मे धोकाधडी से बचने के लिए नागरिको ने चीनी व आँनलाईन सामान खरेदी से दुर रहने का आवाहन यहां की सामाजिक कार्यकर्ता संगीताताई इंगोले इन्होने किया है़ चीन यह हमेशा ही भारतदेश के विरोध मे निती बनाकर आंतरराष्ट्रीय स्तरोपर भारत विरोधी कार्य करते हुए भारत देश के नागरीको मे आपसी दुरीया नर्मिाण कर रहा है़ भारतीय बाजार पेठ मे अपने सामान के माध्यम से घुसखोरी करने का चीन का प्रयास रहा है़ चीनी  वस्तुए ये छोटे बालको के लिए घातक है़.

इन वस्तु का दर्जा भी टिकाऊ नही रहता़  इसे ध्यान मे लेते हुए नागरिको ने चीनी वस्तु ,सामान ओपर बहस्किार डालकर स्वदेशी सामान खरेदी करे़ इसके साथ ही आँनलाईन खरेदी मे भारत के अनेक व्यक्ति ओ के साथ आर्थिक धोकाधडी के मामले हुए है़ आँनलाईन से भारत के सुशक्षिति बेरोजगार व्यवसायीको का बडा नुकसान हो रहा है़ आँनलाईन वस्तु खरेदी से भारत का पैसा भी विदेश मे जा रहा है़ व स्थानिय व्यवसायीको को इस का बडा परिनाम भुगतना पड रहा है़ देश भर मे इन दिनो त्योहारो के दिन होने से नागरिक बडे प्रमाण मे आँनलाईन खरेदी कर रहे है़. लेकीन इसमे अधिकतर सामान निकृष्ट दर्जे का निकलता है़ व खरेदी के बाद सेवा भी नही मिलती़ इसलिए नागरिको ने चीनी व आँनलाईन से सामान खरेदी नही करने का आवाहन सौ़ संगीताताई इंगोले ने किया है़.